मंत्री उषा ठाकुर के बयान पर बवाल, नाराज मुस्लिम संगठन ने सौंपा ज्ञापन

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मंत्री उषा ठाकुर ने मदरसों को लेकर मंगलवार को एक प्रेस वार्ता में कुछ आपत्तिजनक बातें कही थी। मंत्री ने कहा था कि मदरसों की शिक्षा से आतंकवादी निकलते हैं, इसलिए मदरसों को दी जाने वाली सुविधा बंद कर मदरसों को ही बंद कर देना चाहिए। मदरसों के लिए दिए गए आपत्तिजनक बयान से मंत्री उषा ठाकुर का काफी विरोध भी हो रहा है।

बुधवार को कांग्रेस की पूर्व पार्षद जुलेखा अनवर कादरी, शहर कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष शेख शाकिर ने बताया कि मदरसों से बड़े-बड़े ज्ञानी, हजारों स्वतंत्रता सेनानी के साथ देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम जैसे वैज्ञानिक पढ़े हैं, जिन्होंने देश को कई आधुनिक मिसाइल दी। इससे सैन्य शक्ति में भारत का नाम बढ़ा है। भाजपा मंत्री ने मदरसों को लेकर आपत्तिजनक बात कही, जिससे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और देश प्रेमियों का अपमान हुआ है। मुस्लिम संगठन के साथ कांग्रेस के कई नेता कमिश्नर कार्यालय पहुंचे, जहां राज्यपाल के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया। मंत्री के बयान की निंदा करते हुए सरकार से उन्हें पद से बर्खास्त करने की मांग की गई है।