…तो इसलिए बीजेपी विधायक को जनसुनवाई में जाना पड़ा

इंदौर| पीएम आवास योजना के तहत शहर के पूर्वी क्षेत्र में स्थित निरंजनपुर के रहवासियों की नाराजगी को देखते हुए आज बीजेपी विधायक रमेश मेंदोला को रहवासियों के समर्थन में आगे आना पड़ा इसके लिए बकायदा बीजेपी विधायक लोगो के साथ इंदौर कलेक्टर की जनसुनवाई में पहुंचे। 

दरअसल इंदौर नगर निगम द्वारा निरंजनपुर बस्ती के रहवासियों को विस्थापित कर प्रधानमन्त्री आवास योजना के तहत वहां मल्टी बनाने की योजना बनाई है। निगम की इस योजना के खिलाफ रहवासी लंबे समय से अपना विरोध दर्ज करवा रहे हैं। विधानसभा क्षेत्र क्रमांक दो के भाजपा विधायक रमेश मेंदोला भी अब रहवासियों के सर्मथन में उतर आए हैं। 

रहवासियों के साथ विधायक रमेश मेंदोला मंगलवार को कलेक्टर कार्यालय की जनसुनवाई में पहुंचे जहाँ उन्होंने कलेक्टर से चर्चा कर निरंजनपुर के लोगों को विस्थापित कर वहां मल्टी बनाए जाने का विरोध किया। बीजेपी विधायक रमेश मेंदोला की माने तो निरंजनपुर बस्ती में लगभग 15 सौ परिवारो के 5 हजार से अधिक लोग निवास करते है। सभी लोग पिछले 30 साल से अधिक समय से रह रहे हैं कई लोगों ने बैंक से लोन लेकर क्षेत्र में पक्के मकान बनाए हैं। सड़क, पानी, बिजली, ड्रेनेज सहित सभी सुविधा क्षेत्र में मौजूद है। ऐसे में लोगों को विस्थापित करने के बजाय नगर निगम को प्रधानमन्त्री आवास योजना के तहत मल्टी प्रोजेक्ट किसी अन्य क्षेत्र में बनाना चाहिए। निरंजनपुर क्षेत्र के लोगों को न्याय दिलाने के लिए वे कलेक्टर कार्यालय पहुंचे हैं। कलेक्टर लोकेश जाटव ने भी मामले की गंभीरता को देखते हुए उचित निर्णय लेने का आश्वासन दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here