25 दिन से लापता प्राचार्य की बरगी नहर में मिली लाश, हत्या या हादसा, जांच में जुटी पुलिस

शासकीय हाई सेकेंडरी स्कूल अगरिया में पदस्थ प्रभारी प्रचार्या 10 अक्टूबर को अचानक ही लपता हो गए थे। बताया जा रहा है कि उनका पड़ोसियों से किसी बात को लेकर विवाद चल रहा था जिसके बाद से ही वो लापता थे।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (Jabalpur) में शुक्रवार शाम सिहोरा ब्लॉक के शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल में पदस्थ बीते 25 दिनों से लापता चल रहे प्रभारी प्राचार्य मंगल सिंह करोपे की लाश (Dead body) मिली। गिदुरहा गांव के पास बरगी दाईं तट नहर में क्षत-विक्षत हालत में मिली लाश की पहचान मृतक के परिजनों ने उनके जूते और कपड़ों से की। लापता प्राचार्य किसी हादसे का शिकार हुए या उनकी हत्या हुई इस बात का खुलासा पोस्टमार्टम के बाद ही हो सकेगा।

ये भी पढ़ें- Indore news : सरेराह युवक पर जानलेवा हमला, बदमाशों ने दनादन बरसाईं 5 गोलियां, घायल

यह था पूरा मामला

शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल अगरिया में प्रभारी प्राचार्य मंगल सिंह करोपे (55) बीते 10 अक्टूबर की सुबह करीब 4:30 बजे के लगभग घर से मॉर्निंग वॉक के लिए निकले थे लेकिन शाम तक वह अपने घर नहीं लौटे। जिसके बाद 11 अक्टूबर को उनकी बेटी हेमलता ने उनके लापता होने की रिपोर्ट मझगवां थाना में दर्ज कराई थी। तब से पुलिस लापता प्रभारी प्राचार्य की लगातार तलाश कर रही थी लेकिन उनका कहीं भी कोई पता नहीं चला।

सामाजिक लोगों से हुआ था विवाद-मारपीट

परिजनों के मुताबिक आदिवासी दिवस पर 9 अगस्त को गांव के सामाजिक लोगों से प्रभारी प्राचार्य का विवाद हो गया था। बेटी हेमलता के अनुसार उस दिन विवाद के दौरान उनके पिता के साथ मारपीट भी की गई थी, हालांकि तब मामला शांत हो गया था लेकिन तनाव बना हुआ था। बेटी ने उनके अपहरण और उनके साथ कोई घटना होने की आशंका पहले ही जताई थी।

पीएम रिपोर्ट के बाद हो सकेगा खुलासा

25 दिनों से लापता शिक्षक की लाश नहर में मिलने के बाद अब यह सवाल तेजी से उठ रहा है कि क्या उनकी हत्या हुई या वे किसी हादसे का शिकार हुए हैं। इसको लेकर सिहोरा थाना एसडीओपी श्रुतकीर्ति सोमवंशी का कहना है कि पूरे मामले खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही हो सकेगा।