Jabalpur News : सूदखोरों से परेशान व्यक्ति ने की आत्महत्या, पीछे छोड़ा सुसाइड नोट

मध्यप्रदेश सरकार भले ही सूदखोरों पर लगाम कसने की बात कह रही हो पर हकीकत ये है। कि अभी भी सूदखोरों का राज चल रहा है। जबलपुर में लगातार सूदखोरी के मामले सामने आ रहे है...

जबलपुर,संदीप कुमार। मध्यप्रदेश सरकार भले ही सूदखोरों पर लगाम लगाने की बात कह रही हो पर जमीनी हकीकत कुछ और ही है। मामला है जबलपुर के मानेगांव में रहने वाले एक युवक का जिसने सूदखोर से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। युवक का नाम राकेश सिंह था जो कि चाय की दुकान चलाता था।

Jabalpur News : सूदखोरों से परेशान व्यक्ति ने की आत्महत्या, पीछे छोड़ा सुसाइड नोट

यह भी पढ़ें…दिग्विजय सिंह की नक्सलियों से अपील, बुलेट से नहीं बैलेट से लड़े अपनी लड़ाई

हम आपको बता दें कि सूदखोर किसी को समस्‍या से निकालने के लिए नहीं बल्कि अपने धन को दोगुना-तीनगुना करने के लिए कर्ज का धंधा चलाते हैं। लाभ कमाना उनका मकसद होता है। इसी लाभ ने एक बहन के भाई को मौत के घाट उतार दिया। ज्ञातव्य है कि मृतक राकेश की बहन ने मीडिया को बताया कि उसके भाई की चाय की दुकान है। इसी दुकान पर उसका एक दोस्त अभिषेक शुक्ला भी आया करता था। उसे 10 हजार रु की आवश्यकता थी। तो मृतक राकेश सिंह ने अपने दोस्त की मदद करने के लिए सूदखोर सुनील सोनकर से 20 हजार रु लिए और 10 हजार अभिषेक को दे दिए। सूदखोर सुनील सोनकर ने एक साल में ही 20 हजार रु पर ब्याज 1 लाख रु कर दिए। इसी रुपये को लेकर राकेश को सुनील लगातार परेशान कर रहा था। सुनील ने रुपये के लिए राकेश के साथ अभद्र व्यवहार किया, जिसको लेकर वह काफी परेशान भी रहने लगा था।

यह भी पढ़ें…अवैध उत्खनन: बीजेपी नेता ने किया स्टिंग ऑपरेशन, पुलिस पर लगाये आरोप

बता दें कि मृतक राकेश की बहन रीता के मुताबिक उसने ग्रमीण बैंक से 5 लाख रु का लोन लिया था। और फिर वह रुपये अपने दोस्त सचिन सराठे को दिए थे। लेकिन सचिन हर बार रुपये देने से कतरा रहा था। वही अभिषेक भी उधार रुपये राकेश को नही दे रहा था। ऐसे में सूदखोर सुनील सोनकर की धमकी और दोस्तो के द्वारा रुपये वापस न करने से राकेश परेशान हो गया लिहाजा उसने घर पर फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

यह भी पढ़ें…सिंधिया से आगे निकलने की होड़ में गिरे नेता जी, सिलावट की गेंद पर मारे चौके-छक्के

दरअसल, सूदखोर सुनील सोनकर और अपने दो दोस्त सचिन सराठे-अभिषेक शुक्ला से परेशान होकर आत्महत्या का कदम उठाने वाले राकेश सिंह ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है जिसमे इनका नाम और कितने रुपये लेने है वह भी लिखा है,राकेश से रु लेने के बाद सचिन ने उसे 5 लाख रु का चेक भी दिया था इसके अलावा नोटरी भी की गई है,राकेश की मौत के बाद रांझी थाना पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौप दिया है। वही रीता के बयानों के आधार पर जाँच शुरू कर दी है।