Accident : हाईवा से टकराई तेज़ रफ्तार एम्बुलेंस, एक की मौत, एक घायल

दुर्घटना में एम्बुलेंस सवार टेक्नीशियन की इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं ड्राइवर की हालत नाजुक बनी हुई है।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (Jabalpur) में नागपुर-इलाहाबाद बायपास पर कुसनेर के पास एक बड़ा सड़क हादसा (road accident) हो गया। जहां तेज रफ्तार एम्बुलेंस (ambulance) रोड पर खड़े हाईवा से टकरा गई। दुर्घटना में एम्बुलेंस सवार टेक्निशयन की इलाज के दौरान मौत हो गई। वहीं ड्राइवर की हालत नाजुक बनी हुई है। हादसे के बाद पुलिस ने हाईवा ड्राइवर के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें…Indore News: इंदौर में डेल्टा प्लस वैरियंट की आशंका, कलेक्टर ने दिए विशेष प्रबंध के निर्देश

जानकारी के अनुसार एनएच-30 स्थित कुसनेर बायपास पर हाईवा एमपी 20 एचबी-6533 खराब हो गया था। ड्राइवर ने आगे की लाईट तो जला रखी थी, लेकिन पीछे रिफलेक्टर न होने से हाईवा नहीं दिख रहा था। उसी दौरान कटनी से एक मरीज को मेडिकल छोड़ने के लिए 108 एम्बुलेंस एमपी 02 एवी- 6857 जबलपुर आई थी और यहां से मरीज को अस्पताल में छोड़कर ड्राइवर लौट रहा था। जहां एम्बुलेंस कुसनेर बायपास के पास रोड पर खड़े हाईवा से एम्बुलेंस टकरा गई। जिससे एम्बुलेंस का आगे का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। हादसे में विजयराघवगढ़ कटनी निवासी टेक्नीशियन अमित पांडे और ड्राइवर सतना निवासी अजय विश्वकर्मा घायल हो गए। हाईवे पर अंधेरा होने की वजह से हाईवा दिखाई नहीं दिया। हाईवा के पीछे रिफलेक्टर भी नहीं लगा था। दोनों घायलों को पनागर अस्पताल पहुंचाया गया।

पनागर अस्पताल में इलाज के दौरान आधे घंटे बाद टेक्निशयन अमित पांडे ने दम तोड़ दिया। वहीं ड्राइवर की हालत नाजुक देख उसे मेडिकल रेफर कर दिया गया। अमित पांडे के पिता शिवकुमार पांडे की विजयराघवगढ़ में पांडे मेडिकल नाम से दवा की दुकान है। हादसे की खबर पाकर पनागर पहुंचे परिजनों ने हंगामा किया। आरोप लगाया कि सही तरीके से इलाज न मिलने से अमित की मौत हो गई। समय रहते मेडिकल रेफर कर दिया गया होता तो शायद अमित की जान बचाई जा सकती थी।

यह भी पढ़ें…Windows 11: आज लॉन्च होंगे विंडोज 10 के अपग्रेड वर्जन, जाने संभावित फीचर्स