जबलपुर, संदीप कुमार। कोरोना संक्रमण से जूझ रहे मध्य प्रदेश के लिए राहत भरी खबर आई है। दक्षिणी मध्य प्रदेश में मानसून के सक्रिय होने के साथ ही बरगी बांध में पानी का बढ़ना शुरू हो गया है। दो दिनों में बरगी बांध के जल स्तर में लगातार बढ़ोत्तरी हुई है। बांध का जलस्तर भी 414.70 मीटर से अब 414.80 पर पहुँचा है।

आज सीहोर में टीम शिवराज, लिये सकते हैं यह बड़े निर्णय

बरगी बांध में मंडला, डिंडौरी, मोहगांव, मुक्की, मवई, बम्हनी, बंजर मनोट और बरगी नगर ऐसे 8 स्थान है जो बांध के केचमेंट एरिया में आते हैं। और इन्ही जगहों में हुई बारिश का पानी बांध में आकर जमा होता है। फिलहाल मंडला डिंडौरी एरिये की बारिश का पानी बरगी बांध पहुँचा है। वहीं मध्य प्रदेश में मानसून की दस्तक से बरगी बांध के जल्द लबालब होने की संभावना है। बरगी बांध का अधिकतम जल स्तर 422.76 मीटर है। वहीं वर्तमान जल स्तर 414.80 मीटर है।

बरगी बांध नर्मदा नदी पर बना प्रदेश का ऐसा बांध है जिसके भरने से पूरे साल नर्मदा में जल का बहाव तेज़ रहता है। पूरे प्रदेश के लिए यह बांध बेहद उपयोगी है। बरगी बांध, भारत के मध्य प्रदेश में नर्मदा नदी पर बनने वाले 30 प्रमुख बांधों की श्रृंखला में से पहले पूर्ण किए गए बांधों में से एक है। नर्मदा मध्य प्रदेश की सबसे बड़ी नदी है, जो पश्चिम की ओर बहती है और अरब सागर में मिलती है। इसकी कुल लंबाई 1312 किमी है, जिसमें से 1072 किमी मध्य प्रदेश की भूमि में बहती है।