Jabalpur News : कुख्यात बदमाश बबलू पंडा की हत्या का बड़ा खुलासा, 2 आरोपी गिरफ्तार

जबलपुर सहित आसपास के जिलों में मोस्ट वांटेड बबलू पंडा एक कुख्यात अपराधी था ।

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के जबलपुर (Jabalpur) के हिस्ट्रीशीटर बबलू पंडा की मंडला में हत्या का 24 घंटे बाद ही  खुलासा हो गया है। मंडला पुलिस (Mandla Police) ने बताया कि बबलू पंडा की हत्या गैंगवार नही, बल्कि जुए के रुपए के लेनदेन के चलते हुई थी। बबलू पंडा की हत्या के आरोप में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इस वारदात में एक आरोपी को भी चोट आई है, जिसे की जिला अस्पताल मंडला में भर्ती करवाया गया है। फिलहाल बबलू पंडा के शव का पोस्टमार्टम बीजाडांडी में किया जा रहा है।

यह भी पढ़े.. MPPSC : मप्र में इन पदों पर निकली है भर्ती, मौका जाने से पहले करें अप्लाई

दरअसल, पत्नी की हत्या सहित कई जघन्य अपराधों में शामिल हिस्ट्रीशीटर बबलू पंडा (history sheeter bablu panda) की गुरुवार की रात मंडला जिले के उदयपुर में 3 लोगों ने मिलकर हत्या कर दी थी। आरोपियों ने पहले हिस्ट्रीशीटर बबलू पंडा को गोली मारी और उसके बाद धारदार हथियार से उसका गला काट दिया। पहले इसे अवैध संबंध और पैसों के लेन देन को लेकर गैंगवार बताया जा रहा था, लेकिन 24 घंटे के अंदर ही पुलिस ने खुलासा कर दिया है।मृतक कुख्यात बदमाश था।  जबलपुर सहित आसपास के जिलों में मोस्ट वांटेड बबलू पंडा एक कुख्यात अपराधी था ।उसके ऊपर पत्नी सहित अपने दोस्त की हत्या करने एवं लूटपाट फिरौती की मांग सहित और कई जघन्य अपराध दर्ज थे, बबलू पंडा के आतंक को लेकर जबलपुर पुलिस ने भी उसके ऊपर 30000 रु का इनाम घोषित किया था।

गौरतलब है कि बबलू पंडा जबलपुर का कुख्यात अपराधी था, उसने मार्च 2015 को अपनी दासता पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी थी, इसके बाद मई 2015 में ही अपने एक साथी की हत्या कर शव को पान उमरिया के जंगल मे फेंक दिया था। हाल ही में पंडा जमानत पर बाहर आया था।जबलपुर के गोरा बाजार निवासी हिस्ट्रीशीटर बबलू पंडा के खिलाफ करीब 30 से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज है। 2020 में उसका जिला बदर किया गया था। उसके बाद से ही वह जबलपुर जिले से बाहर रहकर अपनी जुए के साम्राज्य को बढ़ा रहा था।

यह भी पढ़े.. किसान सम्मान निधि: 42 लाख किसानों को तगड़ा झटका, केंद्रीय मंत्री का बड़ा बयान

बबलू पंडा जुआ खिलाने में इतना माहिर था कि एक साथ वह कई फल को जबलपुर और मंडला के जंगलों में बिछाया करता था बताया जा रहा है कि इसी जुए के लेनदेन को लेकर उसका विवाद हुआ और फिर गोली मारकर हत्या कर दी गई।जिला बदर होने के बावजूद भी हिस्ट्रीशीटर बबलू पंडा लगातार जबलपुर और मंडला के जंगलों में अपनी आमद दर्ज करवा कर रहा है।  बबलू पंडा बीते कई दिनों से दशमेश ढाबा से लगे जंगल के पास जुआ खेला दिलवा रहा था फिलहाल पुलिस ने बबलू पंडित की हत्या के आरोप में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जांच शुरू कर दी है।