जबलपुर|
मध्य प्रदेश की जबलपुर पुलिस का तालिबानी चेहरा सामने आया है जहाँ थाना शहपुरा में पदस्थ एक सब इंस्पेक्टर ने मात्र शक के आधार पर एक युवक की जमकर पिटाई की।इधर जब यह पूरा मामला एसपी अमित सिंह के संज्ञान में पहुँचा तो उन्होंने जांच के निर्देश दिये है।पीड़ित युवक का आरोप है कि सब इंस्पेक्टर हेमंत यादव में मझ शक के आधार पर बर्बरता से उसकी पिटाई की है।ग्राम घाना निवासी रविन्द्र सिंह की माने तो सब इंस्पेक्टर हेमंत यादव अपने स्टाफ के साथ उसके बाजार पहुँचा और यह कहकर उसे साथ ले गया कि कुछ बात करनी है जिसके बाद रविन्द्र सिंह को थाना लेकर आया गया जहाँ उसके साथ जमकर मारपीट की।पुलिस ने तब तक उसे मारा जब तक कि वह बेहोश नही हो गया।दर्शल पुलिस को शक था कि रविन्द्र सिंह जुआ खिलाता है इसी शक पर उसे पीटा गया।पीड़ित के परिजनों का आरोप है कि शहपुरा पुलिस रेत माफिया,शराब माफियाओ को छोड़ कर आम जन को परेशान कर रही है।शहपुरा पुलिस ने रविन्द्र के साथ मारपीट करते हुए उससे रु तक छीन लिए।अपनी फरियाद लेकर पुलिस अधीक्षक अमित सिंह के पास पहुचे रविन्द्र सिंह ने अपनी तकलीफ बयां की जिसके बाद तत्काल कार्यवाही और जांच का आश्वासन दिया गया है।

गौरतलब है कि शहपुरा पुलिस इन दिनों अपने कारनामों को लेकर कुछ ज्यादा ही चर्चित है कभी रेत माफियाओ से रु वसूलना तो कभी अवैध शराबियो से हाथ मिलाना।बहरहाल अब देखना होगा कि रविन्द्र सिंह की शिकायत पर क्या कार्यवाही पुलिस कर्मियों पर होती है।