मिर्ची का टुकड़ा पड़ा मासूम की सांसों पर भारी, मुश्किल से बची जान

जबलपुर,संदीप कुमार। मिर्ची का टुकड़ा एक मासूम की जान पर भारी पड़ गया। मामला कटनी का है, यहाँ रहने वाले दीपक रजक की 13 माह की बच्ची की श्वास नली में खेलते वक्त हरी मिर्च का टुकड़ा फंस गया, टुकड़ा फसने से बच्ची के गले में तकलीफ हो गई जिससे वह दर्द से तड़प उठी, हालांकि परिजन मासूम को लेकर कटनी जिला चिकित्सालय के डॉक्टर के पास भी गए लेकिन बेहतर इलाज बच्ची को नही मिल सका, 6 दिन तक बच्ची दर्द में तड़पती रही, जिसके बाद डॉक्टर्स ने बच्ची को मेडिकल कॉलेज जबलपुर के लिए रेफर कर दिया। जबलपुर मेडिकल कालेज में 13 माह की बच्ची का डॉक्टर कविता सचदेवा और उनकी टीम ने इंडोस्कोपी की सहायता से सांस नली में फंसी मिर्च के टुकड़े को सफलतापूर्वक बाहर निकाला जिसके बाद बच्ची को दर्द से राहत मिली, नाक-कान-गला रोग विभागाध्यक्ष डॉ कविता सचदेवा ने बताया कि इससे पहले भी उन्होंने कई जटिल ऑपरेशन किए है,लेकिन इस तरह का माल पहली बार सामने आया, किसी बच्ची की सांस नली में मिर्च का टुकड़ा फँसना अत्याधिक खतरनाक होता है, इसके लिए उसे दर्द भी झेलना पड़ता है,बच्ची की सांस नली में मिर्च फँसने के बाद उसने खाना-पीना छोड़ दिया था, फिलहाल ऑपरेशन के बाद अब बच्ची को दर्द से राहत मिल गई है और वह स्वस्थ है।