कांग्रेस ने कृषि बिल, वैक्सीनेशन और अपराध के मुद्दे पर बीजेपी को आड़े हाथों लिया

जबलपुर, संदीप कुमार। कांग्रेस के राज में कभी भी किसानों को प्रताड़ित नहीं किया गया, मोदी सरकार को आने वाले समय में कृषि बिल वापस लेना पड़ेगा, ये कहना है कांग्रेस के प्रदेश सह प्रभारी सीपी मित्तल का। नगरीय निकाय चुनाव की तैयारियों की समीक्षा करने जबलपुर पहुंचे कांग्रेस के प्रदेश सह प्रभारी सीपी मित्तल ने दिल्ली बॉर्डर पर कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन के बहाने भाजपा पर निशाना साधा।

उन्होने कहा कि देश के कृषि मंत्री कहते है कि कृषि बिल वापिस नही लिए जाएंगे, जबकि कांग्रेस के राज में कभी भी किसानों को प्रताड़ित नहीं किया गया। इतना ही नही कांग्रेस ने किसानों का कर्ज माफ करने का काम भी किया। कांग्रेस हमेशा से किसानों के हित के लिए लड़ाई लड़ती रही है और आगे भी किसानों के साथ खड़ी रहेगी। सीपी मित्तल ने कहा कि आने वाले वक्त में मोदी सरकार को कृषि बिल वापस लेना पड़ेगा। इसके अलावा कोरोना वैक्सीनेशन पर विपक्ष द्वारा सवाल उठाए जाने पर सीपी मित्तल ने किनारा करते हुए इसे भाजपा की चाल बताया और कहा कि वैक्सीनेशन के बहाने बीजेपी राजनीति कर रही है, जबकि विपक्ष वैक्सीन लगवाने तैयार है। इसके साथ ही राम मंदिर निर्माण के लिए देश भर में हो रहे धन संग्रह को लेकर भाजपा और संघ से राम मंदिर के लिए पूर्व में मांगे गए चंदे का हिसाब भी मांगा। वहीं उन्होने नाबालिग बच्चियों और महिलाओं के साथ प्रदेश में बढ़ रही रेप की घटनाओं पर शिवराज सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश की सत्ता में जब से शिवराज सरकार की दोबारा से वापसी हुई है, तभी से कानून व्यवस्था खत्म हो गई है और रेप, लूट और डकैती की वारदातें बढ़ गई है। ऐसा लगता है जैसे प्रदेश में अपराधियों की सरकार है।