जबलपुर में डबल मर्डर से फैली सनसनी, दिव्यांग पिता-पुत्री की धारदार हथियार से हत्या

जबलपुर।संदीप कुमार

लॉकडाउन खुलने के बाद से संस्कारधानी अपराधों की राजधानी बन गई है। जबलपुर में इन दिनों हत्याएं होना आम हो गया है। बीते 1 माह के अंतराल में अभी तक 10 से ज्यादा हत्याएं जबलपुर में हुई है हालांकि कुछ हत्या के मामलों का पुलिस ने खुलासा करते हुए आरोपियों को जरूर गिरफ्तार कर लिया है पर घटनाएं होने में कहीं से भी कमी नहीं आ रही है। जबलपुर के आगासौद गांव में भी आज एक दिव्यांग युवक और उसकी 3 साल की बेटी की अज्ञात हमलावरों ने धारदार हथियार से हत्या कर दी। घटना के समय मृतक की दिव्यांग पत्नी दमोह तेंदूखेड़ा गई हुई थी।इधर घटना की सूचना मिलने के बाद माढ़ोताल थाना का स्टाफ मौके पर पहुँच जाँच शुरू कर दी है।जानकारी के मुताबिक आज सुबह जब मृतक का भाई विष्णु गौड़ उससे मिलने घर आया तो देखा कि दरवाजा खुला हुआ है अंदर जाकर देखा तो दिव्यांग सुशील गौड़ और उसकी तीन साल की बेटी घर के अंदर म्रत पड़े हुए है।

दोनो के शरीर मे थे कई घाव

म्रतक सुशील गौड़ और उसकी बेटी जमीन पर लेटे हुए थे दोनो के ही शरीर मे धारदार हथियार से कई घाव किए गए थे।बच्ची के गले मे हमला कर जहाँ उसकी हत्या की गई थी तो वही सुशील के पीठ और गले पर काफी गहरे घाव थे।

पति पत्नी दोनों दिव्यांग, घर पर थी छोटी सी किराना की दूकान

सुशील और उसकी पत्नी दोनों ही दिव्यांग है,परिवार का पालन पोषण करने के लिए घर पर ही किराना दुकान चलाया करते थे।दोनो को शासन की तरफ से पेंशन भी मिलती थी।छोटी सी दूकान से आमदनी और पेंशन से ही परिवार का पालन पोषण चलता था इसके अलावा सुशील के पास थोड़ी सी पैतृक जमीन भी थी।

गाँव मे सभी से थे मृतक सुशील के अच्छे संबंध

बताया जाता है कि म्रतक सुशील और उसकी पत्नी के गांव में सभी से मधुर संबंध थे।गाँव के ज्यादातर लोग उनकी ही दूकान से किराना का सामना लेने आया करते थे।पड़ोस के लोग भी समय आने पर दिव्यांग परिवार की मदद किया करते थे।इतने अच्छे व्यक्ति का आखिर कौन दुश्मन हो सकता है ये समझ से परे है।

एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा भी पहुँचे मौके पर

माढ़ोताल थाना के ग्राम आगासौद में हुई दोहरी हत्या की सूचना मिलने के बाद पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोपाल खांडेल, सीएसपी रोहित काशवानी भी मौके पर पहुंचे। घटनास्थल का एसपी ने निरीक्षण करते हुए आरोपियों को पकड़ने के लिए एक टीम गठित की है। फिलहाल शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया है साथ ही आरोपियों की तलाश भी शुरू कर दी गई है।