सुरक्षा सुपरवाइजर की मौत के बाद उग्र हुए कर्मचारी

जबलपुर| नेता जी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज में कल जहर खाने वाले सोमनाथ शर्मा का शव पोस्टमार्टम के बाद उनके गृह ग्राम नरसिंहपुर के लिए रवाना कर दिया गया है। सोमनाथ शर्मा के साथ काम करने वाले कर्मचारियों ने अब उग्र आंदोलन की चेतवानी दी है। साथी कर्मचारी सुदीप कुमार का आरोप है कि सोमनाथ शर्मा की मौत की वजह मेडिकल कॉलेज सुरक्षा प्रबंधन के डॉ शुभम सहित सुरक्षाकर्मी कंपनी के जीतेन्द्र सिंह सहित मुख्य सुरक्षा अधिकारी विकास नायूड है जिन्होंने की सोमनाथ को आत्महत्या करने के लिए मजबूर किया है। 

परिजनों का तो यहां तक आरोप है कि कंपनी प्रबंधन ने सोमनाथ को नोकरी पर वापस लेने के लिए बुलाया था और फिर जबरन वही जहर पिलाया जिसके चलते उनकी मौत हो गई।सुरक्षाकर्मियों के सुपरवाइजर रहे सोमनाथ का आज उनके गृह ग्राम नरसिंहपुर में अंतिम संस्कार किया जाएगा।सोमनाथ शर्मा हमेशा से ही अपने साथी कर्मचारियों के लिए आवाज़ उठाते रहे है।कई बार तो उन्होंने हड़ताल तक कर्मचारियों के लिए कर दी थी जिससे नाराज होकर कंपनी प्रबंधन ने उन्हें नोकरी से निकाल दिया था जिसको लेकर सोमनाथ ने एसपी अमित सिंह से भी शिकायत की थी बावजूद इसके गढ़ा थाना प्रभारी ने सोमनाथ की शिकायत पर कार्यवाही नही जी।बहरहाल अब मेडिकल कॉलेज के सभी सुरक्षाकर्मियों ने सोमनाथ की मौत को लेकर जिम्मेदारो के खिलाफ कार्यवाही करने के लिए आंदोलन की रूप रेखा बनाने की तैयारी शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here