जबलपुर।  जबलपुर के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी डिजाइन एंड मैन्युफैक्चरिंग यानी ट्रिपल आईटी डीएम में आज 10 वें दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया। दीक्षांत समारोह में कुलाधिपति और मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन नें शिरकत की.. इस मौके पर राज्यपाल लालजी टंडन नें ट्रिपल आईटी डीएम से साल 2018 और 2019 में पढाई पूरी करने वाले 788 मेधावी छात्र छात्राओं को उपाधियो से नवाज़ा गया। 

जिसमें 14 स्टूडेंट को स्वर्ण पदक, 22 को सिल्वर मेडल और 44 को पीएचडी की उपाधि दी गई। जबकि 531 स्टूडेंट्स को बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी,137 स्टूडेंट्स को मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी और 53 स्टूडेंट्स को मास्टर ऑफ डिजाइन की उपाधि से नवाजा गया। भोपाल के अरशद जियाउद्दीन को उनके स्नातक की शिक्षा के दौरान शानदार प्रदर्शन के लिए राज्यपाल द्वारा मैडल से सम्मानित किया गया। 

इस दौरान राज्यपाल लालजी टंडन नें विद्यार्थियों से हौसला और संयम रखने की अपील करते हुए राज्यपाल लालजी टंडन ने कहा कि पक्षी जब उड़ता है, तो वह सोचकर नहीं जाता है कि उसे कहा जाना है, क्योंकि आकाश असीम है और वह अपनी क्षमता के अनुसार अपनी दिशा तय करता है।  उसकी वह दिशा उसे मंजिल तक पहुंचाती है। आज का युग नए तरीकों, नई तकनीकों और कलाओं का है, इससे और अधिक नए रास्ते खुल गए है।