अवैध रेत नाके पर देर रात चली गोलियां, बाल बाल बचे लोग

जबलपुर।संदीप कुमार।

जबलपुर में खुले आम अवैध रेत की सप्लाई हो रही है खास बात तो ये है कि रेत माफिया अब अवैध रेत नाका तक बनाकर रु वसूल रहे है वही दूसरी और जिला प्रशासन सहित खनिज विभाग और पुलिस इस पूरे मामले से अनजान बनी हुई है।जबलपुर के शहपुरा में भी देर रात अवैध रेत नाका को लेकर जमकर फायरिंग की गई।अज्ञात आरोपियों ने एक के बाद एक तीन राउंड फायरिंग की और मौके से फरार हो गए।बताया जा रहा है कि हमलावरों के निशाने में अंशुल राजपूत था जो कि अवैध रेत नाका संचालित किया करता था।इधर फायरिंग की सूचना के बाद मौके पर एसडीओपी रोहित केशवानी सहित शहपुरा थाना का बल भी पहुँच गया।पर तब तक आरोपी फरार हो गए थे।स्थानीय लोगो के मुताबिक अवैध रेत नाका का ये कारोबार लंबे समय से चल रहा था और पुलिस को इसकी जानकारी भी थी पर कार्यवाही के नाम पर खनिज विभाग और पुलिस ने चुप्पी साध रखी थी।बहरहाल पुलिस ने अंशुल राजपूत की शिकायत पर अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मामला दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है वही अंशुल पर भी अवैध रेत नाका संचलित करने के मामले में कार्यवाही की जा रही है।हम आपको बता दे कि हाल ही कलेक्टर भरत यादव ने दावा किया था कि जिले में कही भी अवैध रेत परिवहन नही किया जा रहा है जबकि हकीकत में शहपुरा के नर्मदा घाट से दमोह,छतरपुर,नरसिंहपुर में जमकर अवैध रेत का परिवहन किया जा रहा है और अवैध रेत नाका संचालक 5 हजार से 10 हजार रु तक प्रति डम्फर वसूल कर रहे है।