Jabalpur news: ससुराल में दामाद की मौत, घर वालों ने लगाया हत्या का आरोप

ससुराल में दामाद की मौत,बाद परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप। शव पर घाव के निशान और पत्नी का रिश्तेदारों और पति से संबंध तोड़ देना पुलिस के शक को मजबूत कर रहा है।

जबलपुर, संदीप कुमार। Jabalpur में एक युवक की उसके ससुराल से लाश मिलने के बाद हड़कंप मच गया। इस घटना के बाद युवक के घरवालों का कहना है कि उसकी हत्या कर दी गई है, क्योंकि युवक के शरीर पर जहां-तहां बड़े घाव के निशान देखे गए। Jabalpur news की मानें तो मामला जबलपुर के बेलखेड़ा थाना अंतर्गत मनकेड़ी गांव का है, जहां दामाद से ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा मारपीट की गई। घायल युवक को जब अस्पताल में भर्ती कराया गया तो इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

यहां भी देखें- Jabalpur medical college में इलाज के दौरान मारे गए कैदी के परिजनों ने दिया पुलिस को अल्टीमेटम

मेडिकल कालेज में भर्ती युवक की सुबह मौत हो जाने के बाद उसके घर वालों ने हंगामा मचाया। मामला पुलिस तक पहुंच गया है और पुलिस ने केस दायर कर जांच शुरू कर दी है। मृतक के पिता ने ससुराल पक्ष वालो पर उसके बेटे की हत्या का आरोप लगाया है। मृतक के पिता ने आरोप लगाया है कि मारपीट करने के बाद ससुराल पक्ष के लोग मेडिकल कालेज में छोड़कर भाग गए। मामले में युवक की पत्नी भी अपने मायके वालों के साथ खड़ी नजर आ रही है और उसका कहना है कि अब उसका उसके पति और उसके रिश्तेदारों से कोई संबंध नहीं रहा।

यहां भी देखें- Jabalpur News : डॉ यादव बने MP-CG न्यूरोलॉजिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया के पहले अध्यक्ष

पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार युवक जबलपुर पाटन का निवासी है और उसका नाम संतोष अहिरवार है। 4 साल पहले विवाह उसका हुआ था उसका एक बेटा भी है। पुलिस को बताया कि 7 दिसंबर 2021 को संतोष अपने ससुराल मनकेडी गया जहां उसकी पत्नी पहले से ही मौजूद थी।

यहां भी देखें- Jablpur News : मां को शराबी बड़ा भाई दे रहा था गाली, छोटे ने रोका तो कर दी हत्या

ससुर और उसके साढूभाई रुपेश चौधरी से विवाद हुआ और युवक के साथ मारपीट की गई। गंभीर रूप से घायल हो जाने के बाद इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मृतक के साडू भाई नरेश सूर्यवंशी ने बताया कि संतोष से झड़प के बाद उसके सिर में गंभीर चोट थी,जिसके बाद साढूभाई और ससुराल वालों ने उसे मेडिकल में भर्ती करवाया, जब संतोष की मेडिकल में हालत खराब हो गयी तब कहीं जाकर 10 दिसंबर को परिवारजनों को सूचना दी गई,इतना ही नही संतोष को मेडिकल में अकेला छोड़कर भाग गए,परिवारजनों ने बताया कि किसी बात को लेकर ससुराल पक्ष से संतोष का झगड़ा हुआ है, जिसमें उसकी पत्नी ने भी उसका साथ छोड़ दिया, साढू भाई रुपेश चौधरी से जब पूछा कि मेडिकल में भर्ती क्यों किया था, तो उसने घटना को एक्सीडेंट का रूप देने की कोशिश की। पुलिस मामले की जांच कर रही है।