Jabalpur News : गेहूं खरीदी में गड़बड़ी पाए जाने पर वेयरहाउस के मालिक समेत 7 लोगों पर FIR, जांच में मिला था 40 लाख का अनाज गायब

वेयरहाउस में इस गड़बड़ी की जानकारी कलेक्टर को दी गई जिसके बाद कलेक्टर के निर्देश पर जांच दल बनाया गया जिसमें कि डिप्टी कलेक्टर नदीमा शीरी की टीम ने मौके पर जाकर जांच कर प्रतिवेदन कलेक्टर को सौंपा। जांच में करीब 40 लाख रुपए के गेहूं की गड़बड़ी पाई गई। जिस पर अनीना लोधी, प्रकाश चंद कुशवाहा, दुर्गा विश्वकर्मा, केशव राय, अखिलेश राय, संदीप राजपूत और गनपत पटेल के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। 

Amit Sengar
Published on -

Jabalpur News : अमानक और कम गेहूं खरीदी को लेकर जबलपुर जिला प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए वेयर हाउस के मालिक सहित सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज़ करवाया है। जिला प्रशासन की इस कार्रवाई को लेकर वेयर हाउस और खरीदी केन्द्र प्रभारियों में हड़कंप मच गया है।

वेयरहाउस के मालिक समेत 7 लोगों पर FIR

वहीं कार्रवाई को लेकर कलेक्टर दीपक कुमार सक्सेना ने दो टूक शब्दों में चेतावनी देते हुए कहा कि, गेंहू हो या फिर धान किसी भी खरीदी में अनियमितता करने वालों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। कलेक्टर के निर्देश पर खाद्य विभाग के अधिकारी ने मझौली थाने में जगदीश वेयरहाउस के मालिक सहित सात के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है, जिसमें कि खरीदी केन्द्र प्रभारी, गोदाम प्रभारी, सर्वेयर के भी संलिप्तता पाई गई है।

जांच में मिला था 40 लाख का अनाज गायब

आपको बता दें कि हाल ही में सिहोरा एसडीएम ने 2024-25 में खरीदा गया गेंहू जिसे कि दुर्गा स्व सहायता समूह के द्वारा खरीदी करवाने के बाद जगदीश वेयर हाउस में रखा गया था जिसका निरीक्षण किया तो वहां पर ना सिर्फ अमानक गेहूं मिला बल्कि 40 लाख रुपए के गेहूं का हेरफेर भी हुआ था। वेयरहाउस में इस गड़बड़ी की जानकारी कलेक्टर को दी गई जिसके बाद कलेक्टर के निर्देश पर जांच दल बनाया गया जिसमें कि डिप्टी कलेक्टर नदीमा शीरी की टीम ने मौके पर जाकर जांच कर प्रतिवेदन कलेक्टर को सौंपा। जांच में करीब 40 लाख रुपए के गेहूं की गड़बड़ी पाई गई। जिस पर अनीना लोधी, प्रकाश चंद कुशवाहा, दुर्गा विश्वकर्मा, केशव राय, अखिलेश राय, संदीप राजपूत और गनपत पटेल के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

जबलपुर से संदीप कुमार की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News