Jabalpur News : खेल-खेल में बच्चे ने निगला तार का टुकड़ा, गले में फंसा, डॉक्टरों ने ऑपरेशन से निकाला

बच्चे के गले में एक तार टुकड़ा फंसा दिखा। तुरंत सर्जरी की तैयारी आरंभ की गई। और फिर बच्चे के गले से तार निकाला गया।

jabalpur news

Jabalpur News : जबलपुर के मेडिकल कालेज़ में खेल-खेल में दो वर्ष के बच्चें ने लोहे के तार का टुकड़ा निगल गया। बच्चे को इलाज के लिए नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल काॅलेज में भर्ती किया गया। नाक, कान व गला रोग विभाग के चिकित्सकों ने एक्सरे करवाया और फिर सर्जरी करने का निर्णय किया। एंडोस्कोपी के माध्यम से बच्चे के गले में फंसे तार के टुकड़े को बाहर निकाला गया। सफल सर्जरी से बच्चे की जान बच गई।

क्या है पूरा मामला

नाक, कान एवं गला रोग विशेषज्ञ डाॅ. कविता सचदेवा के अनुसार यह एक जटिल ऑपरेशन था, लेकिन कुशल चिकित्सकों ने सावधानीपूर्वक अन्य किसी अंक को हानि पहुंचाएं बिना तार को बाहर निकालने में सफलता प्राप्त की। बच्चा अब स्वस्थ्य है। उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। ग्राम बंजार निवासी दो वर्षीय शिशु जाहिर गोंड ने छह जुलाई को घर में खेलते समय कुछ उठाकर खाया। उसके बाद बच्चे को उल्टी होने लगी। वह दर्द के कारण रोने लगा। मां मोनिका को पास के अस्पताल ले गई। जहां, जांच में कुछ पता नहीं चला। इस बच्चे को बुखार आ गया तो उसे मेडिकल काॅलेज भेज दिया गया।

मेडिकल काॅलेज में भर्ती होने पर बच्चे के गले और छाती का एक्स-रे किया गया। रिपोर्ट में बच्चे के गले में एक तार टुकड़ा फंसा दिखा। तुरंत सर्जरी की तैयारी आरंभ की गई। और फिर बच्चे के गले से तार निकाला गया।

जबलपुर से संदीप कुमार की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News