कोचिंग संस्थानों को कलेक्टर ने दिया एक सप्ताह का अल्टीमेटम

One-week-ultimatum-given-by-collector-to-coaching-institutes-in-jabalpur

 जबलपुर| विगत दिनों सूरत के एक कोंचिंग सेंटर में हुए भीषण अग्नि हादसे के बाद अलर्ट मोड पर आई प्रदेश सरकार ने हर जिले में संचालित कोचिंग सेंटर्स की जांच के निर्देश दिए थे। बात जबलपुर की करें तो यहां कलेक्टर के निर्देश पर शहर भर के करीब 44 कोंचिंग सेंटर्स की जांच की गई और अधिकतर कोचिंग संस्थानों में छात्रों की सुरक्षा के लिए खास इंतजाम नजर नहीं आए। जिले के कलेक्टर को सभी एसडीएम द्वारा भेजी गई जांच रिपोर्ट मे इस बात का खुलासा हुआ था, कलेक्टर भरत यादव ने ऐसे सभी कोचिंग सेंटरो को नोटिस जारी कर तय समय सीमा में कमियों को दूर करने के निर्देश दिए थे। 

इसी सिलसिले में आज एक महत्वपुर्ण बैठक कलेक्टर कक्ष में आयोजित की गई जिसमें सुरक्षा के तमाम इंतजामों को एक सप्ताह में पुख्ता करने के निर्देश दिए गए। कलेक्टर ने बताया कि जिले में करीब 300 रजिस्टर्ड और 300 नाॅन रजिस्टर्ड कोचिंग संस्थान हैं। नाॅन रजिस्टर्ड कोचिंग संस्थान संचालकों को रजिस्ट्रेशन के लिए निर्देश भी दिए गए हैं। इन सभी मानकों में खामी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई करने की भी जिला प्रशासन तैयारी में है।