जबलपुर में तेंदुए की दहशत से सूनी हुईं सड़कें, वन विभाग ने तैनात की टीम

जबलपुर। जबलपुर के सबसे रिहायशी इलाके नयागांव में बीते एक सप्ताह से तेंदुए की दहशत बनी हुई है। आलम यह है कि शाम होते ही लोग अपने-अपने घरों में तेंदुए के डर से दुबक जाते हैं। वहीं वन विभाग की टीम ने भी नया गांव के आसपास अपने कर्मचारियों को तैनात कर दिया है। हालांकि अभी तक नयागांव या उसके आसपास तेंदू के पग मार्क नहीं मिले हैं। फिर भी स्थानीय लोगो की शिकायतों के चलते वन विभाग की एक टीम 24 घंटे नयागांव के पास तैनात रहती है।

नयागांव का जलपरी इलाके आमतौर पर लोगों के घूमने के लिए बना हुआ है पर इन दिनों तेंदुए के डर से इस इलाके में लोगो की आवाजाही बहुत कम हो गई है शाम होते ही नयागांव की सड़कें सुनसान हो जाती है।स्थानीय लोगो के मुताबिक तेंदुए के ख़ौफ़ से अब यहाँ आने में डर भी लगता है चूँकि नयागांव के आसपास जंगल भी फैला है जिसके चलते लोगो ने आंशका भी जताई है कि इस जंगल मे तेंदुआ है जिसे बहुत से लोगो ने देखा भी है।यहाँ रोजाना सैर सपाटे के लिए आने वालों की माने तो अभी यहाँ पर कभी कभार साँप जरूर दिख जाते थे पर अब तेंदुए की हलचल ने यहाँ आने वाले के दिल दिमाग मे उसका ख़ौफ़ पैदा कर दिया है जिसके चलते यहाँ पर लोगों का आना भी काफी कम हो गया है।नयागांव के वॉकिंग प्लेस में घूमने आने वालों ने वन विभाग से मांग की है वो जल्द से जल्द तेंदुए को पकड़कर लोगो को ख़ौफ़ मुक्त करे।हम आपको बता दे कि जबलपुर के डुमना एयरपोर्ट और नयागांव में तेंदुए की आवाजाही अक्सर लोगो की बातों का विषय बना रहता था।