सिटी बसों के साथ बस चालक और कंडक्टर ने एसपी ऑफिस का किया घेराव, जानें क्या है पूरा मामला

अधिकारी के आश्वासन के बाद भी ऑटो बस चालक बसों को चलाने तैयार नहीं है।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (jabalpur) के पनागर बस स्टैंड के पास अज्ञात लोगों के द्वारा मेट्रो बस चालक के ऊपर हमला करना और बस को क्षतिग्रस्त कर देने को लेकर आज तमाम बस चालक और कंडक्टर ने एसपी ऑफिस का घेराव किया। तकरीबन 20 से अधिक बसों को एसपी ऑफिस के सामने खड़ा करने के बाद चालक और परिचालक ने asp से मुलाकात कर सुरक्षा की गुहार लगाई हैं।

यह भी पढ़े…कारम बांध निर्माण में लापरवाही करने वाले 8 अधिकारियों पर सीएम शिवराज ने लिया एक्शन, किया निलंबित

बस चालकों का कहना है कि आए दिन कोई भी व्यक्ति विवाद कर मारपीट करता है। जिसके कारण हमेशा उनकी जान खतरे में बनी रहती है। चालकों का कहना हैं कि जब पुलिस उन्हें सुरक्षा प्रदान करेगी तभी अब बस चलाएंगे। मेट्रो बसों के अचानक खड़े कर देने को लेकर यात्री और स्कूली बच्चे घंटों तक परेशान होते रहे।

यह भी पढ़े…अपने भांजे को ही दिल दे बैठी मामी, पति को रास्ते से हटाने के लिए दी सुपारी

बस चालक राजेश कुमार ने बताया कि गुरुवार की रात जब बस पनागर पहुंची थी कुछ लोगों ने बस पर पत्थर मारकर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया। इतना ही नहीं उनके एक साथी के साथ जमकर मारपीट भी की गई। asp से मुलाकात कर चालकों ने बताया कि आए दिन विवाद और मारपीट जैसी घटना उनके साथ होती है। बस चालक की माने तो पाटन,मेडिकल, गोसलपुर तरफ ऑटो चालकों का भी आतंक है। मेट्रो बस का किराया कम हैं जिसके कारण ऑटो चालक भी विवाद करते हैं। मेट्रो बस चालकों की शिकायत पर पुलिस अधीक्षक ने आश्वासन दिया है कि जिन्होंने भी बस क्षतिग्रस्त कर चालक के साथ मारपीट की है जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा। हालांकि अधिकारी के आश्वासन के बाद भी ऑटो बस चालक बसों को चलाने तैयार नहीं है।