केंद्रीय मंत्री ने जबलपुर प्रशासन को दिये निर्देश- “गरीब निराश्रितों के लिये करें निशुल्क रहने-खाने की व्यवस्था “

जबलपुर। संदीप कुमार।
केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने जबलपुर जिला प्रशासन को निर्देश दिये हैं कि कोरोना वायरस के चलते शहर में कोई भी गरीब भूखा या निराश्रित न रहे। केंद्रीय पर्यावरण और संस्कृति राज्यमंत्री प्रहलाद पटेल और सांसद राकेश सिंह मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए जिला प्रशासन की तैयारियों की समीक्षा बैठक ले रहे हे। इस बैठक में उन्होंने पूरे संभाग में कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा की।

बैठक में दिये निर्देश-
इस बैठक में केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल और सांसद और सांसद राकेश सिंह ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि ऐसे गरीब लोग जो कि दूसरे शहरों से जबलपुर में आए हैं और लॉकडाउन की वजह से अपने शहर या गांव वापस नहीं जा पा रहे, हैं उनके भोजन और ठहरने की निशुल्क व्यवस्था की जाए। इसी के साथ बेसहारा जानवरों के भोजन-पानी की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। साथ ही उन्होने अधिकारियों से यह भी पूछा कि यदि अचानक मरीजों की संख्या बहुत ज्यादा बढ़ जाए तो ऐसे में किस तरह के इमरजेंसी इंतजाम किये गए हैं।

अधिकारियों ने दी जानकारी
बैठक में अधिकारियों ने बताया कि पूरे संभाग के सभी शासकीय अस्पतालों, हेल्थ सेंटर और ओपीडी में मरीजों की जांच और उन्हें भर्ती करने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा निजी अस्पतालों के अधिग्रहण का काम भी कर लिया गया है। चिकित्सकों और मेडिकल स्टाफ को सुरक्षा उपकरण मुहैया कराए जा रहे हैं। मास्क पीपीई और सैनिटाइजर बड़ी संख्या में उपलब्ध कराए गए हैं जिससे मरीजों के संपर्क में आने के बाद मेडिकल स्टाफ को किसी भी तरह का संक्रमण ना होने पाए।

स्वयंसेवी संगठनो को उनके कामो के लिए नेताओ ने दिया धन्यवाद
इस कठिनाई की घड़ी में शहर में कई स्वयंसेवी संगठन हैं जो जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री और सांसद ने ने ऐसे स्वयंसेवी संगठनों के द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए उनका आभार भी जताया। उन्होने कहा कि ये प्रशासन के सात स्वयंसेवी संस्थाओं और नागरिकों की जागरूकता ही है कि जबलपुर में अभी संक्रमित मरीजों की संख्या ज्यादा बढ़ी है और उम्मीद है कि जल्द ही सब कुछ ठीक हो जाएगा।