जबलपुर में कोरोना नियमों का उल्लंघन करना पड़ा महंगा, जिले के सबसे बड़े फर्नीचर विक्रेता पर कार्रवाई

फर्नीचर की दुकानें नियमों के विरुद्ध खोली गई। इस पर ओमती पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत संचालकों पर कार्रवाई की है।

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (Jabalpur) जिले के सबसे बड़े फर्नीचर विक्रेता को कोरोना गाइडलाइन (corona guideline) का पालन न करना महंगा पड़ गया। दरअसल जबलपुर कलेक्टर (Jabalpur Collector) के आदेश अनलॉक (unlock) के जारी किए थे। बावजूद इसके फर्नीचर की दुकानें नियमों के विरुद्ध खोली गई। इस पर ओमती पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत संचालकों पर कार्रवाई की है।

यह भी पढ़ें…खरगोन अनलॉक : लेफ्ट-राइट सिस्टम के उल्लंघन पर चार दुकानों पर कार्रवाई

ओमती थाना प्रभारी एस.पी.एस. बघेल ने बताया कि करमचंद चैक स्थित खंडेलवाल फर्नीचर दुकान नंबर 1 का संचालक मनोज खंडेलवाल, दुकान क्रमांक 2 का संचालक प्रमोद खंडेलवाल तथा दुकान क्रमांक 3 का संचालक समीर खंडेलवाल के द्वारा किया जा रहा था। और ये लोग आदेशों के खिलाफ अपनी दुकानें संचालित कर रहे थे। जिसके बाद जिला दण्डाधिकारी जबलपुर के आदेश का उल्लंघन करने पर इनके ऊपर कार्रवाई की गई है। उपरोक्त तीनो खंडेलवाल फर्नीचर दुकान संचालकों के विरूद्ध धारा 188,269,270 भादवि एवं 54 आपदा प्रबंधन अधिनियम तथा 3 महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की गयी है।

लगातार की जा रही है कार्रवाई
जबलपुर पुलिस के मुताबिक जो लोग भी कोरोनावायरस का उल्लंघन कर रहे हैं। उन तमाम व्यापारियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। उन व्यापारियों में खंडेलवाल फर्नीचर भी शामिल है। गौरतलब है कि हाल ही में समय बहुत से ऐसे व्यापारी सामने आए हैं। जो कि कोरोनावायरस का उल्लंघन कर रहे हैं जिसके चलते प्रशासन ने यह कदम उठाया।

यह भी पढ़ें…मनरेगा में चल रही मशीनें, ग्रामीण मजदूरी के लिए गांव से बाहर जाने को मजबूर