कौमी एकता के नग़मों से गूंजा शहर

वंदना तिवारी/कटनी। कटनी में समाजसेवी नवाब खान ने अमन और चैन की दुआ करते हुए महफिल-ए-शमां कार्यक्रम का आयोजन किया। कैमोर जुबेदा एंड संस के संचालक इंजीनियर नवाब खान हर साल अजमेर ख्वाज़ा गरीब नवाब उर्सपाक में अमन शान्ति के लिए चादर चढ़ाते हैं। इसी मौके पर हर साल जश्ने ख्वाजा गरीब नवाज उर्सपाक की खुशी में महफिलें शमां कार्यक्रम आयोजित होता है।

महफिलें शमां कार्यक्रम ताज मेंशन मे रात नौ बजे से शुरू हुआ, इस भव्य आयोजन मे कटनी, सिहोरा, जबलपुर, रीवा, मैहर, विजयराघवगढ़, चदिया, उमरिया, पनागर से बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिकों की मौजूदगी रही। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे जेरे सरपरस्ती सैय्यद आले हसनैन चिश्ती। कार्यक्रम की शुरूआत कव्वाल हाजी मोहब्बत इदरीस की कौमी एकता का पैगाम देते हुए नग़मे से हुई। इसके बाद तो जैसे महफिल में कई रंग बिखरते गए।

इस अवसर पर आयोजक नवाब खान ने कहा की महफिलें शमा का आयोजन शहर की खुशहाली और अमन चैन के लिए किया जाता है और इसमें सभी जाति धर्म के लोग शरीक होते हैं। सुर साज से सजी इस महफिल ने शहर को एक बार फिर कौमी एकता के नग़मों से सराबोर कर दिया।