खंडवा में नवजात को बेचने के मामले में आरोपी मीडियाकर्मी फरार, पुलिस जुटी तलाश में

खंडवा, सुशील विधानी। नवजात को बेचने के प्रयास के मामले में डाक्टर से 50 लाख रुपये की फिरौती मांगने वाले मीडियाकर्मी फरार हो गए है। मीडियाकर्मियों पर मारपीट करने का आरोप लगाने वाले डाक्टर सौरभ सोनी और  कमलेश नरवरिया को पुलिस घटनास्थल लेकर पहुँची।जहाँ पर मीडियाकर्मियों ने डॉक्टर्स से मारपीट की थी। मीडियाकर्मियों ने डाक्टर और उसके साथी को ले जाकर मारपीट कर रुपये लिए थे। इधर किशेारी का अवैध रूप से प्रसव कराने के बाद जन्मे नवजात बालक को बेचने का प्रयास करने के मामले में आरोपितों की संख्या पांच से बढ़कर आठ हो गई। पुलिस ने किशोरी के माता-पिता और एक महिला को भी आरोपित बनाया है। इस मामले में गिरफ्तार आरोपित डाक्टर सौरभ सोनी और कमलेश नरवरिया को जेल भेज दिया गया है। दोनों को पुलिस ने रिमांड पर लिया था।

गोविंद राजपूत ने अरुण यादव से पूछा- “आपमें दिग्विजय सिंह की आत्मा कब से आ गई”

नवजात बालक को बेचने के प्रयास में आरोपित डाक्टर सौरभ सोनी को बंधक बनाकर फिरौती मांगने वाले चारो मीडियाकर्मीयो की तलाश में पुलिस लगी हुई है। मंगलवार को पुलिस चारों की तलाश करती रही लेकिन कहीं भी उनका पता नहीं चल पाया। पुलिस द्वारा चारों के मोबाइल नंबर ट्रैस किए जा रहे हैं। ताकि उनके बारे में पता चल सके। तकनीक का उपयोग करते हुए सायबर सेल की मदद से पुलिस आरोपितों तक पहुंचने में लगी हुई है।

जबलपुर आबकारी सहायक आयुक्त और क्लर्क की साजिश से शासन को हुआ करोड़ों रुपए का नुकसान, ईओडब्ल्यू ने दर्ज किया प्रकरण

वही पुलिस ने कोतवाली थाने में शुरुआत में डाक्टर रेणु सोनी, डाक्टर सौरभ सोनी, कर्मचारी कमलेश नरवरिया, मोहसीन खान और नर्स संजूला पर प्रकरण दर्ज किया था। अब इस मामले में सौरभ और कमलेश से मिली जानकारी के आधार पर किशोरी का अवैध रूप से प्रसव कराने वाले माता और पिता को भी आरोपित बनाया गया है। साथ ही एक महिला वर्षा यादव भी इस मामले में आरोपित बनी हुई हैं। इसके साथ ही मामले में धारा 370 भी बढ़ाई गई। इस तरह से इस मामले में अब आठ आरोपित हो गए हैं।