खंडवा, सुशील विधानी

इंदौर-इच्छापुर-आकोला राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण हेतु 6 हजार 800 करोड़ की स्वीकृति दी गई है। इसपर पूर्व प्रदेशाध्यक्ष व सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने पीएम मोदी व मंत्री गडकरी  आभार जताया है।

इंदौर इच्छापुर सड़क मार्ग जो कि टोल टेक्स हटने के बाद से लगातार क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण दुर्घटनाओं के मामले में किलर हाईवे के नाम से जाना जाने लगा था। इस मार्ग से पूरे देशभर के भारी वाहनों का आवागमन शुरू हो जाने से लगातार दुर्घटनाओं को ग्राफ भी बढ़ता जा रहा है। इसको लेकर पूर्व प्रदेशाध्यक्ष एवं खंडवा संसदीय क्षेत्र के सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने देश के प्रधानमंत्री के साथ ही केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उधम मंत्री नितिन गड़करी से लगातार मुलाकात की और इस मार्ग को नेशनल हाईवे घोषित करवाया और फोरलेन के लिए करोड़ों रूपए की स्वीकृति भी दिलवाई।

प्रवक्ता सुनील जैन ने बताया कि इंदौर-इच्छापुर मार्ग पर बढ़ रहे आवागमन से प्रतिदिन दुर्घटनाएं होती थी और मौत भी हो रही थी। सांसद ने इस मार्ग के लिए अपनी सक्रिय भूमिका निभाई और इस मार्ग को फोरलेन करवाकर करोड़ों रूपए की स्वीकृति दिलवाई। मंगलवार को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गड़करी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं सांसद नंदकुमारसिंह चौहान के आग्रह पर इंदौर सनावद, बोरगांव तक सड़क निर्माण हेतु 3000 करोड़ तथा बोरगांव से बुरहानपुर-आकोला तक सड़क निर्माण के लिए 3800 करोड़ रुपए की सैद्धांतिक स्वीकृति दी। इंदौर-सनावद-बोरगांव मार्ग की दूरी 136 किलोमीटर एवं बोरगांव-बुरहानपुर-आकोला मार्ग 176 किलोमीटर का निर्माण होगा। मार्ग निर्माण से महाराष्ट्र एवं मध्यप्रदेश में जनता के लिए आवागमन सुलभ होगा, मध्यप्रदेश के विकास को नई रफ्तार मिलेगी एवं उन्नति का मार्ग प्रशस्त होगा। प्रवक्ता सुनील जैन ने बताया कि इस मार्ग के बनने से बुरहानपुर क्षेत्र की जनता को विशेष लाभ मिलेगा। मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र की जनता को लाभ होगा। क्षेत्र की जनता की तरफ से सांसद नंदकुमारसिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आभार माना।