कोरोना संक्रमित छतरपुर के जज ने खंडवा में तोड़ा दम, 2 दिन से हुए थे आईसीयू में भर्ती

खंडवा में छतरपुर में पदस्थ एडीजे की उपचार के दौरान मौत हो गई।

खंडवा, सुशील विधाणी। कोरोना महामारी (Corona epidemic) ने अब तक लाखों लोगों के परिवार उजाड़ कर रख दिए है जिसमें आम जनता से लेकर बड़े-बड़े नेता और अधिकारी भी शामिल है वही आज खंडवा (Khandwa) में छतरपुर (Chhatarpur) में पदस्थ एडीजे की उपचार के दौरान मौत हो गई। उनका एक महीने से जिला अस्पताल में इलाज चल रहा था वही ज्यादा तबियत बिगाने के कारण उन्हें 2 दिन पहले ही आईसीयू (ICU) में शिफ्ट किया था जहां आज मंगलवार को उन्होंने डैम तोड़ दिया।

यह भी पढ़ें…जबलपुर : रोटरी क्लब ने कोविड आरएनए एक्सट्रैक्शन मशीन एवं 4 हजार टेस्टिंग किट्स सौंपी प्रशासन को

खंडवा में भी कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे है वही बढ़ते मामलों में आज छतरपुर एडीजे की उपचार के दौरान मौत हो गई, इसके पूर्व खंडवा में कोविड हॉस्पिटल में जिला न्यायालय में 29 वर्षीय ट्रेनी सिविल जज अमित वास्केल निवासी सिविल लाइन की अस्पताल में मौत हो गई थी। यह किसी जज की मौत का दूसरा मामला जिला अस्पताल में देखने को मिला। बतादें कि एडीजे अंतरसिंह अलावा खंडवा एडिशनल एसपी (Khandwa Additional SP) सीमा अलावा के पति थे। पत्नी संक्रमण काल में कोरोना योद्धा की तरह देशभक्ति के जज्बे के साथ सेवा में जुटी थी। इसी बीच उन्हीं के पति संक्रमण की चपेट में आ गए, सूचना मिलते ही पुलिस विभाग से जुड़े आला अधिकारी अस्पताल पहुंचे। रात के समय उनके परिजन इंदौर (Indore) से खंडवा पहुंचे जिसके बाद नगर के मुक्तिधाम पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। जिला महामारी विशेषज्ञ डॉ. योगेश शर्मा के अनुसार अंतर सिंह मप्र के छतरपुर जिले में एडीजे के रूप में पद पदस्थ थे। एक महीने पहले तबियत ख़राब होने के बाद वो खंडवा आ गए और 2 दिन पहले अचानक ज्यादा ख़राब होने के वजह से उन्हें आईसीयू में भर्ती किया गया जहां उनकी आज मृत्यु हो गई।

यह भी पढ़ें…कोरोना काल : 17 वर्षीय बेटी ने दी पिता को दी मुखाग्नि, निगमकर्मी भी हो गए भावुक