यहां तीन दिनों तक इंटरनेट बंद, इन जिलों में निकाली गई सद्भावना रैली

खंडवा| अयोध्या मामले में फैसले के बाद प्रदेश भर में कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस पूरी तरह अलर्ट है|  फैसला आने के बाद कहीं माहौल न बिगड़े, इसके लिए पुलिस-प्रशासन का पूरा बंदोबस्त किया गया है| प्रदेश के डीजीपी वीके सिंह के अनुसार प्रदेश में कोई बड़ी घटना अब तक सामने नहीं आई है| वहीं एहतियातन चप्पे चप्पे पर पुलिस बल तैनात है| वहीं मुस्लिम छात्र संगठन सिमी की गतिविधियों के कारण चर्चित रहे खंडवा जिले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद 3 दिनों के लिए इंटरनेट पर पाबंदी लगा दी गई है| 

खंडवा जिला सांप्रदायिक दंगों की दृष्टि से संवेदनशील माना जाता है। इसके चलते जिला प्रशासन ने एहतियात के तौर पर जिले में अगले 3 दिन के लिए मोबाइल इंटरनेट की सेवा बाधित की गई है। 9 से 11 नवंबर तक जिले में मोबाइल इंटरनेट बंद रहेगा । ब्रॉडबैंड को फिलहाल इस प्रतिबंध से बाहर रखा गया है।  सिमी का गढ़ होने के कारण खंडवा जिला हमेशा से संवेदनशील रहा है|  शनिवार की सुबह सोशल मीडिया पर अयोध्या फैसले को लेकर की गई टिप्पणी के बाद जिला प्रशासन ने यह कदम उठाया है| इस निर्देश के तहत खंडवा में 9 से 11 नवंबर तक इंटरनेट सेवाएं बंद रहेंगी 

शाजापुर और दमोह में निकली सद्भाव रैली 

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शाजापुर में जिला प्रशासन ने सद्भावना मार्च निकाला जिसमें प्रदेश के जल संसाधन मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा शामिल हुए| इस मार्च में सभी धर्मो के धर्मगुरुओं ने शिरकत की और सभी ने एक स्वर में कोर्ट के फैसले का सम्मान किए जाने की बात कहते हुए लोगों से  शांति सद्भाव  बनाए रखने की अपील की|  मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का सभी को सम्मान करना चाहिए और सभी वर्गों को शांति सद्भाव बनाए रखना चाहिए साथ ही उन्होंने लोगों से जिला प्रशासन द्वारा लागू की गई धारा 144 के पालन करने की अपील भी की| वहीं दमोह में सर्वसमाज ने सद्भावना रैली निकाली, जिसमें विभिन्न धर्म और संप्रदाय के लोगों सहित भाजपा और कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता शामिल हुए|  पुलिस-प्रशासन के कई वरिष्ठ अधिकारियों ने भी इस रैली में शिरकत की|  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here