कार्तिक पूर्णिमा पर पंचक्रोशी यात्रा का हुआ समापन, 50 हजार भक्त हुए थे शामिल

4 नवंबर को कार्तिक शुक्ल एकादशी के दिन से ओंकारेश्वर (Omkareshwar) में पंचकोशी यात्रा (Panchkroshi Yatra) की शुरुआत हुई थी जो आज कार्तिक पूर्णिमा के दिन खत्म हो चुकी हैं। ये यात्रा 5 दिवसीय यात्रा होती है।

Panchkoshi Yatra Omkareshwar

खंडवा, डेस्क रिपोर्ट।  4 नवंबर को कार्तिक शुक्ल एकादशी के दिन से ओंकारेश्वर (Omkareshwar) में पंचकोशी यात्रा (Panchkroshi Yatra) की शुरुआत हुई थी जो आज कार्तिक पूर्णिमा के दिन खत्म हो चुकी हैं। ये यात्रा 5 दिवसीय यात्रा होती है। इसमें सुबह मां नर्मदा और भगवान ममलेश्वर के दर्शन करने के बाद यात्री ओंकार पर्वत पैदल परिक्रमा करना शुरू करते हैं। एकादशी की पूर्व संध्या से ही लोग इस यात्रा में शामिल होने के लिए ओंकारेश्वर आने लग गए थे। इस यात्रा में हजारों भक्त शामिल हुए।

Must Read: Kartika Purnima : पूर्णिमा पर लाखों श्रद्धालुओं ने किया शिप्रा नदी के तट पर स्नान, देखें फोटो

खास बात ये है कि इसमें बड़ी संख्या में महिलाओं ने हिस्सा लिया। बताया गया है कि करीब 50 हजार श्रद्धालु पंचक्रोशी यात्रा पर रवाना हुए थे। जिसके बाद आज वपस लौटे है और आज ही इस यात्रा का समापन हुआ है। इस यात्रा को लेकर यात्रा संयोजक राधेश्याम शर्मा द्वारा कहा गया है कि यात्रा पूर्ण कर सोमवार को पहला जत्था ओंकारेश्वर गया है। हालांकि कुछ श्रद्धालु आज मंगलवार के दिन लौटे हैं। ऐसे में पूर्णिमा पर नर्मदा में स्नान करने के बाद ओंकार पर्वत की पांच दिवसीय पंचक्रोशी यात्रा का समापन हुआ।

अब लोगों ने घर जाना शुरू कर दिया है। आगे उन्होंने ये बताया कि इस बार महिलाओं की संख्या में थोड़ी कमी आई क्योंकि अबतक की जो यात्रा पहले हो चुकी हैं उसमें सबसे ज्यादा महिलाओं ने हिस्सा लिया था। हालांकि इस बार भी 50 हजार के करीब यात्रियों ने हिस्सा लिया। इस यात्रा के लिए मार्ग पर विशेष रौशनी और लाइट की व्यवस्था के साथ अन्य व्यवस्था भी की गई। आज कार्तिक पूर्णिमा पर आने वाले हजारों परिक्रमावासियों की पूरी व्यवस्था मंदिर प्रशासन द्वारा की गई थी। क्योंकि आज बड़ी संख्या में लोग नर्मदा में स्नान करने के लिए ओंकारेश्वर पहुंचे।