कोविड केयर सेंटर की व्यवस्थाएं इतनी अच्छी कि घर लौटने वाला हर मरीज कर रहा तारीफ

खण्डवा जिले के कोविड केयर सेंटर (Covid Care Center) में मरीजों को बेहतर इलाज मिल रहा है। जिसको लेकर यहां से स्वस्थ होकर घर लौटने वाले मरीज तारीफ करते नहीं थक रहे हैं।

खंडवा, सुशील विधानी। कोरोना संकट में जहां देश भर में मौतों के आंकड़े बढ़ रहे हैं। मरीजों को अस्पतालों में सुविधाएं नहीं मिल पा रही है। आए दिन सोशल मीडिया (Social Media) पर अस्पतालों में लापरवाही के वीडियो सामने आ रहे हैं। ऐसे में खण्डवा में कोविड केयर सेंटर (Covid Care Center) से घर लौटने वाले मरीज जिला अस्पताल के कोविड केयर सेंटर की व्यवस्थाओं को बेहतर बता रहे हैं। मरीजों का कहना है कि कोविड केयर सेंटर में दवाइयां, ऑक्सीजन (Oxygen), भोजन और साफ-सफाई, सभी सुविधाएं हैं। बता दें कि कोरोना संकट में जिला प्रशासन मुस्तैदी से जुटा हुआ है। वहीं अनेक समाजसेवी संगठन भी मदद के लिए आगे आ रहे है। जिला अस्पताल के कोविड केयर सेंटर में डॉक्टर, नर्सेस के साथ ही सेवा कार्य में लगे कर्मचारी कोरोनो मरीजों का बेहतर इलाज और देखरेख कर रहे है।

यह भी पढ़ें:-खरगोन में लगाए जाएंगे मेगा ऑक्सीजन प्लांट, उद्योगपति आगे आकर कर रहे राशि दान

मरीजों ने बताया कि जिला अस्पताल के कोविड वार्ड में चिकित्सकों ने समय-समय पर दवाइयां दी और ऑक्सीजन भी लगाई। कोविड वार्ड में सुबह चाय, नाश्ता तथा दोपहर व रात्रि में अच्छा भोजन मिलता है। वार्ड में साफ सफाई भी प्रायवेट अस्पतालों की तरह अच्छी है। दवाइयां व ऑक्सीजन समय पर मिलने से अब वह बिल्कुल स्वस्थ है और डिस्चार्ज होकर घर आ गए है। लोग कोरोना से जंग जीतकर खुश है और अस्पताल डॉक्टर्स व पैरामेडिकल स्टॉफ का आभार प्रकट कर रहे हैं। इसके साथ ही मरीजों ने सभी लोगों से अपील की है कि घर से बाहर निकलते समय फेस मास्क जरूर लगाएं और सार्वजनिक स्थानों पर जाने से बचें।

मरीजों ने दिए सुझाव
जिला अस्पताल के कोविड केयर सेंटर की व्यवस्थाओं को और बेहतर बनाने के लिए मरीजों ने कहा कि भोजन में गेहूं की रोटी दी जाना चाहिए, जो मरीज भोजन नहीं ले पा रहे है उन्हें ज्यूस व फल मिलना चाहिए। इस संबंध में में मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ.अनंत पंवार ने बताया कि मरीजों से चर्चा कर व्यवस्थाओं में बदलाव किया जा रहा है और जो भी सुझाव मिलते है, उन पर भी अमल किया जा रहा है। डॉ. अनंत पंवार ने बताया कि कोविड केयर सेंटर में पर्याप्त मात्रा में बेड उपलब्ध है। मरीजों को आवश्यकता अनुसार ऑक्सीजन दी जा रही है, ऑक्सीजन की भी कोई कमी नहीं है। रेमडेसिविर इंजेक्शन भी पर्याप्त मात्रा में है।

इंदौर से आकर इलाज कराया
इंदौर निवासी शीला राजपूत 54 वर्ष की तबीयत पिछले दिनों खराब हुई। सांस लेने में दिक्कत होने पर अनमोल हॉस्पिटल इंदौर में चेकअप कराया, वहां पर सीटी स्कैन करवाने पर पता चला कि फेफड़ों में 65 परसेंट इंफेक्शन है और कोरोना टेस्ट करने पर कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट है। शीला ने बताया कि रिपोर्ट देखकर वह घबरा गई थी और खंडवा में पुलिस विभाग में कार्यरत अपने पति से सलाह की। पति की सलाह मानकर कोरोना संक्रमण का इलाज कराने वह खण्डवा आ गई। खण्डवा के कोविड वार्ड में भर्ती रहकर शीला ने लगभग 10 दिन तक उपचार कराया, अब वह स्वस्थ होकर घर पर स्वास्थ्य लाभ ले रही है। शीला ने बताया कि कोविड वार्ड में डॉक्टर्स भी समय-समय पर चेकअप करने आते थे, पैरामेडिकल स्टॉफ का भी भरपूर सहयोग मिला।

खण्डवा में कोरोना की स्थिति
मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन अनुसार शनिवार को 28 मरीजों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आईं है। अभी तक जिले के कुल 3641 मरीज पॉजिटिव आ चुके हैं। एपिडिमियोलॉजिस्ट डॉ. योगेश शर्माने बताया कि जिले में इस समय कोरोना संक्रमण के कुल 224 एक्टिव केस है। वर्तमान में होम आइसोलेशन में कुल 165 मरीज है। हॉस्पिटल आइसोलेशन में 43 मरीज है। बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण से मुक्त होने पर 30 मरीजों को कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज किया गया। एक मरीज की मृत्यु कोरोना संक्रमण के कारण हुई है। अभी तक कुल 3335 मरीज स्वस्थ्य होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके है। शनिवार को कुल 696 लोगों के सेम्पल लिए गए है। इस तरह अब तक कुल 82 मरीजों की मृत्यु कोरोना संक्रमण से हो चुकी है।