निलंबित एसडीओ ने की निष्पक्ष जांच की मांग, बोले-35 साल पूरी ईमानदारी से नौकरी की, आरोप निराधार’

Suspended-SDO-PN-Pandey-demands-fair-investigation

खंडवा| सुशील विधानी|  35 साल हो गई नौकरी को लेकिन कभी भी ना तो रिश्वत ली और ना ही किसी अधिकारी को रिश्वत दी नौकरी कर्तव्य निष्ठा और ईमानदारी के साथ की यह बात निलंबन की कार्रवाई पर एसडीओ पीएन पांडे ने चर्चा के दौरान कही | उन्होंने बताया कि खंडवा बेतूल स्टेट हाईवे 26 पर ग्राम भीम खेड़ा  के पास गंगा पार नदी पर 743.46 लाखों रुपए की लागत से पुल का निर्माण किया जा रहा है पुल के निर्माण में बाधक बने रहे वृक्षों को काटने की अनुमति के लिए 25 अप्रैल को एसडीओ पीएन पांडे ने एसडीएम कार्यालय हरसूद पहुंचे जहां एसडीएम पार्थ जयसवाल से पेड़ काटने की अनुमति देने का आग्रह किया लेकिन एसडीएम जयसवाल ने कहा कि पेड़ काटने की अनुमति देने का प्रावधान अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को नहीं है इसके बावजूद एसडीएम पांडे ने अनुमति के लिए फिर से आग्रह किया लेकिन एसडीएम ने उस आग्रह को नियम विरुद्ध दबाव बनाने का प्रयास करार दिया मेरी मनसा केवल यह थी कि समय पर कार्य हो अनुमति मिल जाती तो कार्य में तेजी आ जाती लेकिन एसडीएम ने मेरे अनुरोध को दबाव बनाने वाला करार दिया और बेवजह ही एसडीएम ने मुझे कई बातें सुनाई और पुलिस को बुला कर मुझे थाने पहुंचा दिया|  मैंने पूरा जीवन नौकरी ईमानदारी और कर्तव्यनिष्ठा के साथ की है लेकिन मुझे बेवजह परेशान किया जा रहा है मुझे गुमराह कर बेवजह ही निलंबन कर दिया | 

उन्होंने कहा इंदौर संभाग आयुक्त आकाश त्रिपाठी जी से भी निवेदन है कि इसकी निष्पक्ष जांच हो उसके बाद कार्रवाई करें यदि समय पर कार्य होता तो काफी लाभ लोगों को होगा | इसी उद्देश्य से सर से अनुरोध किया था लेकिन मेरा सहयोग करना उन्होंने गलत तरीके से ले लिया | 35 साल हो गए नौकरी को लेकिन रिश्वत नहीं ली इमानदारी से कार्य किया है और इमानदारी से कार्य करता रहूंगा| 

अधिकारी ने कहा मेरे द्वारा ऑफिस में शासकीय कार्य के लिए ही गाया  था एवं इतने वर्षों से कितनी बार में गया कभी मैंने ऐसा सोचा नहीं था कि मेरे साथ इस प्रकार का व्यवहार किया जाएगा मुझे अपमानित किया गया एवं समय सीमा में कार्य को कर्म करवाने के लिए सहयोग के लिए आगरा कराने पर उसे गलत मापदंड पर रख कर मुझ पर कार्रवाई कराई गई|