नगर पालिका की मनमानी से परेशान युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में सामने आई ये बातें

मामले पर परिजनों ने पुलिस से मदद की मांग करते हुए दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है।

भिंड, सचिन शर्मा। मध्य प्रदेश के भिंड जिले में आत्महत्या का एक मामला सामने आया है जहां नगरपालिका की लापरवाही और अनदेखी के चलते एक युवक ने खुदकुशी कर ली। परिजनों का आरोप है कि मृतक कई दिनों से प्रधानमंत्री आवास को लेकर नगरपालिका और अन्य अधिकारियों के चक्कर काट रहा था लकिन उसकी शिकायत कोई नहीं सुनता था जिसके चलते युवक ने ये कदम उठाया।

नगर पालिका की मनमानी से परेशान युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में सामने आई ये बातें

ये भी पढ़ें- MP Weather : मप्र के 14 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बिजली गिरने की भी चेतावनी

जानकारी के मुताबिक मामला आलमपुर का है। यहां रविन्द्र कौरव ऊर्फ टिंकु कई दिनों से पीएम आवास के लिए नगरपालिका और अन्य अधिकारियों के चक्कर काट रहा था पर उन्हें किसी भी तरह की कोई सहायता नहीं मिलती थी और उन्हें कार्यालय से निकाल दिया जाता था। इसकी शिकायत टिंकु ने अन्य अधिकारी से भी की लेकिन किसी ने उसकी नहीं सुनी। मृतक ने मुख्यमंत्री 181 हेल्प लाइन पे भी शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन वहां भी सुनवाई नहीं हुई। जब पीड़ित को कही से कोई मदद मिलती नजर नहीं आई तो उसने अपनी जमीन बेच कर मकान बनाना चाहा पर ऐसा भी न हो सका। उसकी जमा पूंजी और सारे पैसे खत्म हो गए जिसके चलते मकान की छत तक न डल पाई। इन सारी परेशानियों से तंग आकर युवक ने आत्महत्या कर ली।

ये भी पढ़ें- बदमाशों ने अड़ीबाजी कर रेस्टोरेंट में मचाई तोड़-फोड़, वारदात CCTV में कैद

मामले की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची जहां घटना स्थल से पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है। पुलिस द्वारा बताया गया कि मृतक के पास एक चिट्ठी मिली है जिसमें बताया जा रहा हैं की वो कई दिनों से परेशान था। उसके उपर एससी एसटी का केस भी दर्ज कराया गया था। मोहल्ले के लोगों ने उसके साथ मारपीट भी की। सुसाइड नोट में नगर पालिका द्वारा मदद नहीं मिलने के वजह से आत्महत्या की बात लिखी पाई गई। मृतक के घर में उसकी पत्नी, मां और 13 साल की बच्ची हैं जिनका अब कोई भी सहारा नहीं बचा। वहीं परिजनों ने मदद की मांग की हैं और दोषियों के विरुध कार्रवाई की मांग की है।