स्कूल में CAA/NRC पढ़ाने पर भड़के NSUI कार्यकर्ता, जमकर की तोड़फोड़, पुलिस ने रोका

मंडला।
मध्यप्रदेश के मंडला जिले में गुरुवार को एक प्राइवेट स्कूल में एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने तोड़फोड़ कर दी। बताया जा रहा है कि कार्यकर्ता स्कूल में सीएए और एनआरसी पढ़ाए जाने और मोदी सरकार की तारीफ करने पर भड़क गए थे। घटना की जानकारी जैसे ही पुलिस को मिली वैसे ही थाना प्रभारी नीलेश दोहरे अपने दल के साथ विद्यालय पहुंचे जहां तोड़-फोड़ करने वाले एनएसयूआई के लोगों को रोका और समझाइश दी गई।

दरअसल, एनएसयूआई को जैसे ही पता चला कि भारत ज्योति स्कूल में टीचर CAA और NRC का पाठ पढ़ा रहीं हैं और मोदी सरकार की तारीफ कर रहीं है, तो उन्होंने इसकी शिकायत स्कूल प्राचार्य से की। लेकिन कोई एक्शन ना लेने पर कार्यकर्ता गुरुवार को खुद ही स्कूल पहुंच गए और हंगामा करना शुरू कर दिया।इतना ही नही उन्होंने स्कूल में जमकर तोड़फोड़ भी कर दी। घटना की जानकारी जैसे ही पुलिस को प्राप्त हुई वैसे ही थाना प्रभारी नीलेश दोहरे अपने दल के साथ विद्यालय पहुंचे जहां स्कूल में तोड़-फोड़ करने वाले एनएसयूआई के लोगों को रोका और समझाइश दी गई।

NSUI का आरोप है कि टीचर CAA और NRC का पाठ पढ़ा रहीं हैं और मोदी सरकार की तारीफ कर रहीं हैं। स्कूल में टीचर एक समुदाय विशेष पर आपत्तिजनक बाते भी कर रहीं हैं। टीचर सीएए और एनआरसी का समर्थन करने के लिए जोर दे रही है जिसके तहत क्लास में छात्रों को स्कूली पढ़ाई न पढ़ाकर एनआरसी और सीएए के संबंध में जानकारी दे रहे हैं। इसका एनएसयूआई विरोध किया, वहीं टीचर के ऊपर कार्रवाई करने की मांग की गई है।

बीजेपी बोली- ये कैसा उपद्रव
इस मामले पर बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट करते पुए लिखा, ‘कमलनाथ जी क्या मध्य प्रदेश में कानून का राज बिल्कुल समाप्त करने का ठाना है कांग्रेस ने ? CAA के विरोध के नाम पर ये कैसा उपद्रव ? इन गुंडों पर सख्त कार्रवाई होगी या नहीं ?’