सांसद की उदासीनता के चलते इंदौर-अजमेर लिंक एक्सप्रेस का संचालन बन्द, संसदीय क्षेत्र के नेता मौन

मंदसौर।तरुण राठौर।

संसदीय क्षेत्र के नेताओ की उदासीनता के चलते रेल मंत्रालय ने इंदौर- अजमेर लिंक एक्सप्रेस का संचालन बन्द कर दिया। बिना इस रूट के क्षेत्री नेताओ से राय लिए बिना। उसके बाद भी संसदीय क्षेत्र के नेता के कानों पर जु तक नहीं रेंगी। जो अपने आप में चिंता का विषय है। जिसको लेकर इन्दौर की पूर्व सांसद सुमित्रा महाजन पत्र भी रेल मंत्रालय को लिखा है। पर मंदसौर संसदीय नेता को ये रेल बन्द होने से कोई फर्क नहीं पड़ा है। फर्क पड़ा है तो इस क्षेत्र की आम जनता को। जो अजमेर जियारत के लिए इस ट्रेन से सफर करते थे। यही ये ट्रेन लोगो को उज्जैन से भी जोड़ती थी। वैसे तो ये ट्रेन हमेशा ही फूल चलती थी। पर ऐसा क्या हुआ कि रेलवे मंत्रायल को ये ट्रेन बन्द करना पड़ी। वैसे तो इस क्षेत्र का अपने आप विकास पुरुष बताने वाले सांसद मोहदय रेल बन्द होने पर कुछ कहने को तैयार नहीं है। यदि इस क्षेत्र में कोई नई ट्रेन रेलवे मंत्रालय देता तो उसका श्रेय लेने में पीछे नही हटते। बल्कि उनके समर्थक सोशल मीडिया पर हलचल मचा देते। जो रेल के बन्द होने पर चुप है। सोशल मीडिया से लेकर प्रिंट मीडिया तक इस निर्णय को लेकर कोई हलचल नहीं है। बस सब के सब अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने में लगे है। हालही में रेल मंत्रालय ने नई समयसारणी जारी की है। जिसमें इंदौर से जयपुर जाने वाली लिंक एक्सप्रेस को बंद करने के आदेश है।