मुरैना : नपा कर्मचारी ने की आत्महत्या की कोशिश, अधिकारियों पर लगाया प्रताड़ित करने का आरोप

मुरैना जिले में नगरपालिका कर्मचारी ने जहरीला पदार्थ खाकेर आत्महत्या करने का प्रयास किया है। कर्मचारी ने अधिकारियों पर प्रताड़ना का आरोप लगाया हैं।

मुरैना, संजय दीक्षित। जिले के नगर परिषद मुख्य नगरपालिका अधिकारी एसएस यादव की कार्यप्रणाली विवादों के घेरे में आ गई है। मस्टर कर्मचारी रवि सिंघल जोकि कंप्यूटर ऑपरेटर के पद पर वर्ष 2010 से कार्यरत है। उसको मुख्य नगरपालिका अधिकारी सिया शरण यादव एवं लेखपाल अशोक यादव पर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप है।

यह भी पढ़ें:-शिवपुरी : कोरोना काल में हितग्राहियों को नहीं मिल रहा राशन, जोरों पर कालाबाजारी

पीड़ित रवि सिंघल का कहना है कि मुझे 24 घंटे ड्यूटी करने के लिए तैनात करने के आदेश मुख्य नगरपालिका अधिकारी एसएस यादव द्वारा दिए गए थे। दिन रात नौकरी करने से तंग आकर जहरीला पदार्थ खा कर आत्महत्या करने का प्रयास किया। इस बात का परिजनों को पता लगा कि रवि ने जहर खा लिया है तो उसे आनन फानन में उपचार के लिए मुरैना जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। वहां पर उसका डॉक्टरों के द्वारा उपचार किया जा रहा है। अस्पताल में पीड़ित रवि सिंघल ने लेखपाल पर भी आरोप लगाया है। रवि का कहना है कि अशोक यादव काफी दाव धोस देते थे और वेतन भी काटते थे। 24 घण्टे की नौकरी उसके बाद भी वेतन काटा जा रहा था। इसलिए आत्महत्या करने का कदम उठाना पड़ा।

यह भी पढ़ें:-ब्लैक फंगस से पीड़ित रमाकांत का ग्वालियर में होगा इलाज, सीएम के निर्देश

रवि सिंघल ने जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन से मीडिया के माध्यम से गुहार लगाई है कि नगर परिषद बामोर के मुख्य नगरपालिका अधिकारी सिया शरण यादव की हिटलर शाही से परेशान होकर मुझे आत्महत्या के लिए प्रेरित किया गया है। इसलिए इन व्यक्तियों से जान को खतरा है। जिसके चलते रवि ने सुरक्षा की मांग की है।