मुरैना, संजय दीक्षित। मुरैना (Morena) में जिला अस्पताल में नर्सेस एसोसिएशन (Nurses Association) ने सीएमएचओ डॉ एडी शर्म और कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा हैं। बतादें कि पूरी प्रदेशभर की नर्सेस काफी लम्बे समय से अपनी 12 मांगों को लेकर आंदोलन कर रही है। लेकिन सरकार ने अभी तक इस और ध्यान नहीं दिया है। जिसके बाद अब नर्सेस 30 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है।

यह भी पढ़ें… दो धड़ों में बंटा नर्सेस आंदोलन, प्रशासन ने बुलाये प्राइवेट नर्सिंग कॉलेज के स्टूडेंट्स, पुलिस तैनात  

ज्ञापन में उषा तोमर जिलाध्यक्ष ने बताया है कि नर्सेस की लंबित मांगों को लेकर समय-समय पर अवगत कराया जाता है। लेकिन आज दिनांक तक सरकार के द्वारा नर्सों की मांगों पर विचार नहीं किया गया है। पूरा देश इस बात को मान चुका है कि कोविड 19 की महामारी में जो सबसे ज्यादा फ्रंटलाइन वर्कर उभर कर सामने आए हैं जिन्होंने अपनी जान की परवाह किये बिना दिन-रात मेहनत करते हुए संकट की घड़ी में पूरा योगदान दिया हैं। कई संगठनों ने नर्सों के पैर छूकर उन्हें शाल श्रीफल से सम्मानित भी किया है। हमारी मांग है कि अन्य राज्यों की तरह मध्यप्रदेश में कार्यरत समस्त नर्सों को उच्च स्तरीय वेतनमान सेकंड स्टेज दी जाए। पुरानी पेंशन लागू की जाए, कोरोना काल मे शहिद हुई नर्सों को अनुकंपा नियुक्ति देने के साथ-साथ 15 अगस्त को राष्ट्रीय कोरोना योद्धा अवार्ड दिया जाए। मेल नर्सों की भर्ती की जाए। मध्यप्रदेश में कार्यरत नर्सों को एक ही विभाग में समान कार्य के लिए समान वेतन दिया जाए। कोरोना काल मे भर्ती अस्थायी नर्सों को भी नियमित किया जाए।