मुरैना, संजय दीक्षित। मुरैना (morena) जिला जेल में कैदियों (prisoners) को जो सुख सुविधाएं सरकार के द्वारा मुफ्त में दी जाती हैं। उसके लिए जेलर (jailor) द्वारा हर कैदी से पैसा वसूला जा रहा हैं। जो कैदी पैसा नहीं देता है, उंसको प्रताड़ित कर मारपीट की जाती हैं। जिला मुख्यालय पर स्थित जिला जेल में लंबे समय से अनियमिताओं का बोलबाला रहा हैं। जहाँ आए दिन जिला जेल किसी न किसी घटनाक्रम के लिए सुर्खियों में रहता हैं। इस बार भी जिला जेल का एक मामला सामने आया है जिसमें जेलर द्वारा अपने कर्मचारियों के माध्यम से कैदियों को पिटवाकर अवैध वसूली कराई जा रही हैं।

यह भी पढ़ें…आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश पर फोकस, सीएम शिवराज बोले- अध्ययन कर मप्र में लागू करें

इस मामले की शिकायत रामस्वरूप सिंह निवासी सुभाष नगर द्वारा मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष, डीजीपी जेल और मुरैना कलेक्टर से की गई हैं। रामस्वरूप ने बताया है कि जेलर हरिओम शर्मा वसूली का पूरा नेटवर्क चला रहे है। जेल में हर सुविधा के लिए पैसे लिए जाते है। शिकायतकर्ता ने दो पन्नो के शिकायती आवेदन में लिखा है कि 20 जून 2021 को एक कैदी बृज बिहारी शर्मा सराय छौला थाना की मारपीट की गयी हैं। आरोपी दोहरे हत्यकांड में करीब ढाई साल से बन्द है। पैसे न देने के चक्कर मे कर्मचारियों ने बृज बिहारी को बुरी तरह पीटा,जिससे कैदी के गले की हड्डी टूट गयी है। इसके बाद बृजबिहारी का एक्सरे तो करा दिया लेकिन उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती नही कराया गया है। उन्होंने शिकायत में ये भी कहा है कि कैदी वार्ड में 3 मरीजों से जेलर द्वारा मोटी रकम लेकर डॉक्टरों से सांठगांठ कर भर्ती कराया गया है। उनका अगर मेडिकल बोर्ड से सत्यापन कराया जाए तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा। जेलर ने बृज बिहारी का न तो मेडिकल कराया न ही वरिष्ट अधिकारियों को सूचना दी गयी। सूत्र बताते हैं कि जिला जेल में हर सुविधा के लिए रेट निर्धारित की गई हैं। जो शिकायत करते हैं उनको प्रताड़ित किया जाता हैं। जो बंदी हफ्ता वसूली नहीं देते उनके साथ मारपीट की जाती हैं। वरिष्ट अधिकारी जेल का आकस्मिक निरीक्षण कर कैदियों से बातचीत करें तो सारी सच्चाई सामने आ जायेगी।

यह भी पढ़ें…Indore : लोडिंग रिक्शा ने कार को मारी टक्कर, दर्दनाक सड़क हादसे में 6 माह की मासूम की हुई मौत