ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia)की सुरक्षा में एक बार फिर बड़ी चूक सामने आई है। रात को जब वे सड़क मार्ग से दिल्ली से ग्वालियर (Gwalior) आ रहे थे तो सुरक्षा दी जानी थी, सुरक्षा दी भी गई लेकिन पायलट और फॉलो वाहन किसी दूसरी गाड़ी को सुरक्षा देते रहे और सिंधिया कई किलोमीटर तक बिना सुरक्षा के अकेले चलते रहे।  मामला उजागर होने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों ने 14 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड (Suspend) कर दिया है।  इनमें 9 मुरैना के और 5 ग्वालियर जिले के पुलिसकर्मी शामिल हैं।

वैक्सीनेशन महाअभियान (Vaccination Campaign) में शामिल होने आये राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia)  की सुरक्षा में फिर से बड़ी चूक का मामला सामने आया है।  पिछले दिनों NSUI के कार्यकर्ताओं ने ग्वालियर में गोले का मंदिर चौराहे पर उनका वाहन रोककर उन्हें बेशर्म के फूल लगी सूत की माला पहनाने की कोशिश की थी लेकिन वे इसमें सफल नहीं हो पाए थे, सिंधिया ने हाथ में माला ले ली थी लेकिन यहाँ सवाल उठा था कि सिंधिया जैसे Z सुरक्षा वाले वीवीआईपी के नजदीक कुछ लोग पहुँच गए तब सुरक्षाकर्मी कहाँ थे।

ये भी पढ़ें – सिंधिया का कांग्रेस पर बड़ा हमला, नाम बदलना है तो अपनी पार्टी का नाम बदल लें

अब मामला सिंधिया की पायलेटिंग और फॉलो से जुड़ा हुआ है। सिंधिया को वैक्सीनेशन महाअभियान में शामिल होने आज 21 जून को ग्वालियर आना था।  वे रविवार रात को दिल्ली से ग्वालियर के लिए सड़क मार्ग से निकले।  चूँकि मध्यप्रदेश में सिंधिया को Z कैटेगरी की सुरक्षा है तो मध्यप्रदेश की सीमा लगते ही मुरैना पुलिस के पायलट और फॉलो गाड़ियों ने सिंधिया को सुरक्षा दी।  मुरैना की पुलिस ग्वालियर में पुरानी छावनी निरावली पॉइंट तक आई जहाँ दोनों जिलों की सीमाएं मिलती हैं।

ये भी पढ़ें – सिंधिया ने वैक्सीनेशन सेंटर का किया शुभारम्भ, महिला के माथे पर लगाया टीका

निरावली से ग्वालियर जिले को सिंधिया को पायलेटिंग और फॉलो करना था, ग्वालियर की टीम तैयार भी थी लेकिन मुरैना पुलिस और ग्वालियर पुलिस के बीच कम्युनिकेशन गेप के चलते निरावली पॉइंट से सिंधिया की गाड़ी निकल गई और उसके तत्काल बाद उसी कलर की एक और गाडी वहां से निकली तो सुरक्षा में तैनात पुलिस फ़ोर्स सिंधिया की गाड़ी समझ उस दूसरी गाड़ी की पायलेटिंग और फॉलो करता रहा।

ये भी पढ़ें – CM Shivraj ने दतिया में किया टीकाकरण महाअभियान का शुभारंभ, वैक्सीनेशन को बताया सुरक्षा कवच

जब तक पायलेट और फॉलो टीम को गलती समझ आई तब तक सिंधिया IITTM चौराहे तक बिना सुरक्षा निकल आये थे तभी हजीरा थाना पुलिस फ़ोर्स की नजर सिंधिया की गाड़ी पड़ी तो उन्होंने उन्हें सुरक्षा प्रदान करते हुए रात को जयविलास पैलेस तक छोड़ा।  सिंधिया की सुरक्षा में चूक उजागर होने के बाद 14 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया हैं इसमें 9 मुरैना जिले के और 5 ग्वालियर जिले के पुलिसकर्मी शामिल हैं।

ये भी पढ़ें – Indore: विश्व योग दिवस पर विजयवर्गीय की कांग्रेस को खरी – खरी, देखें वीडियो

ग्वालियर एसपी अमित सांघी (Gwalior SP Amit Sanghi) ने सस्पेंशन की पुष्टि करते हुए कहा कि मुरैना और ग्वालियर पुलिस के बीच कम्युनिकेशन गेप के कारण ऐसी स्थिति बनी कि सिंधिया जी को कुछ दूर बिना सुरक्षा के रहना पड़ा। इसके लिए दोषी और लापरवाह 14 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है।  ग्वालियर पुलिस ने हजीरे से सिंधिया जी को सुरक्षा प्रदान कर दी थी।