MP Tourism: सेवढ़ा के सनकुआ धाम में पर्यटन की अपार संभावनाएं, अब तक है शासन की घोषणा का इंतजार

यहां के घाट, दालानें, गुर्जे, पुरातन संस्कृति को संजोये हुये हैं।अद्भुत जलधारा जो सुबह शाम दूध के समान गिरती है तो सूर्य के प्रकाश से स्वर्णिम नजर आती है।

सेंवढ़ा, राहुल ठाकुर। MP Tourism:- नगर पंचायत और ग्राम पंचायतों के चुनावों को लेकर जैसे-जैसे अधिकारी व निर्वाचन आयोग के साथ-साथ सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेतागण कमर कसकर मैदान में कूदने के लिए तैयार है। ठीक वैसे ही जिन वोटरों के वोट पाकर हार जीत का दाव लगाकर हर प्रत्यासी कुर्सी पाने की लालसा पर उतरता है और वह जीत जाने के बाद उन मतदाताओं की तरफ पलट कर किये हुए वादे नही निभाता है। ठीक ऐसी ही बात से आजकल सेवढा के युवा सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेताओ से नाराज चल रहे है और इसका जवाब हर चुनाव में विरोध कर वोट न देकर चुनाव का वहिष्कार करने का मन बना लिया है। कुछ दिनों से जैसे ही चुनाव की सरगर्मी शुरू हुई वैसे ही स्थानीय युवाओं ने एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर सेवढा नगर व अंचल की तमाम मांगो को पूरा न करने पर चुनाव का वहिष्कार करने की ठान ली है।

यह भी पढ़े… Infinix Hot 12 Play की सेल कल होगी शुरू, सिर्फ 291 रुपए में घर ला सकते हैं स्मार्टफोन, जाने डिटेल  

वंही कवि भूपेंद्र राणा का कहना है कि सिंधनदी के तट पर अद्भुत प्राकृतिक सौंदर्य से परिपूर्ण स्थल को अपनी तपोभूमि के लिये जिन बाल ऋषियों ने चुना उन्हें हमसब ब्रह्मा जी के मानसपुत्रों सनक,सनंदन,सनातन,सनतकुमार के नाम से पहचानते आ रहे हैं । ऐसी पौराणिक मान्यता है कि ये बाल ऋषि विश्व के 68 तीर्थों के भांजे के रूप मे विद्यमान हैं। सनकादिक ऋषियों की ये नगरी हर दृष्टि से पर्यटन के लिये उपयुक्त है। सनकुआधाम अपने आप मे बहुत ही मनोरम ,मनोहारी, आकर्षित करता अनुपम स्थल है।

यहां के घाट, दालानें, गुर्जे, पुरातन संस्कृति को संजोये हुये हैं।अद्भुत जलधारा जो सुबह शाम दूध के समान गिरती है तो सूर्य के प्रकाश से स्वर्णिम नजर आती है। अनंत शिवालय व देवालय देवियों के मठमंदिर धार्मिकता प्रतीक हैं नगर मे अमरेश्वर, त्रियंवकेश्वर,गायत्रीपीठ, कांच का मंदिर, राजराजेश्वरी मातामंदिर,परशुराम मंदिर, सबकी अपनी महिमायें हैं।  वनखंडेश्वर मंदिर, गूदरिया मठ,शुक्राचार्य मठ प्राचीन काल के दार्शनिक सिद्ध स्थल हैं। नगर मे बाजार के साथ-साथ तहसील कार्यालय, थानापरिसर, शासकीय बैंक और तमाम जरूरी चीजों की उपलब्धता है।

सेंवढ़ा विधानसभा क्षेत्र होने की बजह से हर दृष्टि से पर्यटकों को सुविधा जनक जगह है। हां यदि प्रशासन की और सरकार की कृपादृष्टि हो जाये तो यहां रेस्टहाउस, रेस्टोरेंट, और कुछ पार्कों का निर्माण हो जाये तो यहां सैलानियों की आवक बढ़ जायेगी। क्योंकि नजदीक ही मां पीतांबरा धाम, रावतपुरा धाम ,रतनगढ माता मंदिर, दंदरौआ सरकार, ऐसे तमाम स्थल हैं जहाँ अधिक्तर सैलानियों का आनाजाना रहता है।

यह भी पढ़े… MP में पेट्रोल-डीजल के दाम स्थिर, एक्साइज़ ड्यूटी में कटौती के बाद भी यहाँ ईंधन की कीमत रु.100 पार, जाने        

सेंवढ़ा को पर्यटन स्थल घोषित कराने की मांग करने वालों मे रितिक महते, हरिओम अरजरिया, अर्पित पांडेय, सोनू पंडा, आमिर खान, अमन गुप्ता, अभिषेक गोश्वामी, साकेत शर्मा, राहुल ठाकुर, राहिम मालिक, गौरब शिवहरे, गगन परिहार समेत सैकड़ो की संख्या में युवाओं की मांग है और जिनका कहना है कि अगर सेवढा नगर में विकास के लिए हमारे नगर व अंचल की शुद्ध नही लेता है तो हम क्यो चुनाव के इस पर्व में हिस्सा ले। आने वाले चुनाव में मुद्दे की बात होगी वरना चुनाव का वहिष्कार किया जाएगा जिसकी जिम्मेदारी सत्ता पक्ष विपक्ष के नेताओ और शासन प्रशासन की होगी।