नाबालिग के हाथ पैर मुंह बांधकर हत्या, परिजनों ने जताई दुष्कर्म की आशंका, आरोपी फरार

बच्ची के साथ हुई घटना का पता पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही लगेगा। आरोपी फरार है। वह नाबालिग बताया जाता है। उंसको पकड़ने के लिए पुलिस पार्टी रवाना की गई हैं।

मुरैना, संजय दीक्षित।  मुरैना जिले के अम्बाह थाना क्षेत्र के पूठ रोड गली नंबर दो में रहने वाली मासूम बच्ची के हाथ पैर और मुंह बांधकर हत्या कर दी गयी। हत्या के बाद आरोपी फरार हो गया। खास बात ये है कि आरोपी बच्ची के मोहल्ले में ही रहता है और वो भी नाबालिग बताया जा रहा है।  पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी हैं।

जानकारी के अनुसार आज सोमवार को सुबह करीब 7 बजे चार पांच साल की मासूम बच्ची टोस्ट लेने के लिए दुकान पर गई थी तभी बच्ची के घर के सामने रहने वाला आरोपी बच्ची को रास्ते से पकड़कर अपने घर के अन्दर खींच ले गया। दो घण्टे तक जब बच्ची घर नहीं लौटी तो परिजनों ने चारों तरफ खोजना शुरु किया तो बच्ची का कहीं भी कोई अतापता नही मिला।

जब बच्ची कहीं नहीं मिली तो पड़ोस में रहने वाले जीतू तोमर ने सीसीटीवी कैमरे की मदद से बच्ची को देखा तो बच्ची सामने वाले मकान में जाती हुई दिखाई दी। आरोपी अंबाह के पास मिढैला गांव का रहने वाला है। बच्ची के घरवालों ने आरोपी के घरवालों को फोन लगाया तथा घर की चाबी मांगी। चाबी मांगने पर आरोपी के बाबा स्वयं चाबी लेकर आए तथा उन्होंने घर का ताला खोला तो बच्ची घर के सबसे अन्दर तीसरे कमरे में बंद मिली। बच्ची के मुंह, हाथ, पैर व गला बंधा हुआ था। उसकी हत्या हो चुकी थी।

दर्दनाक बात ये है जिस बच्ची की हत्या हुई है। वह अपने दो भाइयों के बीच अकेली बहन थी। वह तीनों में सबसे बड़ी थी। वह अंबाह के प्राथमिक विद्यालय में कक्षा चौथी की छात्रा थी। पढ़ने में वह बहुत होशियार थी। उसके दोनों छोटे भाई कक्षा तीन में पढ़ते हैं। उधर बच्ची के परिजनों का कहना है कि उनकी बच्ची के साथ दुष्कर्म किया गया है।

ये भी पढ़ें – इस व्यक्ति ने खुद को बताया ‘कल्कि’ का अवतार, धरती पर सूखा लाने की चेतावनी

घटना की सूचना मिलते ही घटना स्थल का निरीक्षण किया और आसपास से साक्ष्य जुटाए उसके बाद शव को मुरैना पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया गया। मासूम के साथ हैवानियत की खबर मिलते ही पीएम हाउस पर एसपी, एडिशनल एसपी रायसिंह नरवरिया, सिटी कोतवाली पुलिस और अम्बाह पुलिस सहित भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। जहाँ से बच्ची के शव को डॉक्टरों की टीम द्वारा पीएम के लिए ग्वालियर भेजा गया।

ये भी पढ़ें – नगर निगम कमिश्नर के पीए के साले ने लगाईं फांसी, ससुराल पक्ष से विवाद की बात आई सामने

पूरे मामले में एडिशनल एसपी रायसिंह नरवरिया का कहना है कि जब से बच्चे मोबाइल देख रहे हैं। तभी से इस तरह की घटनाएं अधिक घटित हो रही हैं। बच्ची का पोस्टमार्टम अभी नहीं हुआ है। बच्ची के साथ हुई घटना का पता पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही लगेगा। आरोपी फरार है। वह नाबालिग बताया जाता है। उंसको पकड़ने के लिए पुलिस पार्टी रवाना की गई हैं।

ये भी पढ़ें – Gwalior News : दुकानदार ने मछली के पैसे मांगे तो कर दी हत्या , आरोपी फरार