नरोत्तम का बड़ा हमला, “धोखा देने वाली कांग्रेस रोटियां नहीं राजनीतिक पराठे सेंक रही”

प्रदेश के किसानों का कर्ज 10 दिन में माफ वरना मुख्यमंत्री बदल देंगे जैसे वादे करने वाले राहुल गांधी को कर्जमाफी के नाम पर बोलने का कोई हक नहीं है।

नरोत्तम मिश्रा
Dr.Narottam Mishra

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश के गृह मंत्री एवं सरकार के प्रवक्ता डॉ नरोत्तम मिश्रा (Dr Narottam Mishra) ने ओबीसी आरक्षण और किसान कर्ज माफ़ी के मुद्दे पर कांग्रेस (Congress) के बयानों पर बड़ा हमला करते हुए कहा है कि धोखा देने का काम कांग्रेस करती है, उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार (Kamal nath Government) के समय ही बिल सही पास नहीं किया, पैरवी नहीं की, उन्हीं के समय स्टे हुआ, धोखा हमने नहीं कांग्रेस ने दिया। गृह मंत्री ने कहा कि  मैं इसे राजनीतिक रोटियां कैसे कहूं, कांग्रेस पराठे सेंक रही है पूड़ी तल रही है।

कांग्रेस द्वारा किसान कर्ज माफ़ी और ओबीसी आरक्षण (OBC Reservation) आयोग की बात करने पर भाजपा (BJP) ने उसे करारा जवाब दिया है।  मध्यप्रदेश सरकार के प्रवक्ता एवं प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कहा ओबीसी आरक्षण पर कांग्रेस बोलने का अधिकार नहीं रखती , उन्होंने दिया था क्या , हम धोखा तो नहीं दे रहे हमारे मंत्री ने तो कल भी कहा कि देंगे, मामला न्यायालय  में इनके कारण गया, इन्होने बिल ठीक पास नहीं किया , पहले से ही जानबूझकर कमी रखी, एक साल तक कोई वकील खड़ा नहीं किया पैरवी नहीं की।

ये भी पढ़ें – कोरोना से बचाव के लिये जेल विभाग का बड़ा कदम, बंदियों की पेरोल अवधि बढ़ाई

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि स्टे कमलनाथ  सरकार के समय ही आया और समर्थन कर रहे हैं। अब मैं इसको राजनीतिक रोटियां कैसे कहूं, कांग्रेस तो अब पराठे सेंक रही है, पूड़ी तल रही है। झूठ बोलना, लगातार बोलना शायद इनकी फितरत में ही है।

 ये भी पढ़ें – प्रदेश में फिर बढ़े कोरोना के केस, सीएम शिवराज ने दिए ये निर्देश

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के किसान कर्ज माफी वाले बयानों पर भी नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार किया है।  नरोत्तम मिश्रा ने कहा प्रदेश के किसानों का कर्ज 10 दिन में माफ वरना मुख्यमंत्री बदल देंगे जैसे वादे करने वाले राहुल गांधी को कर्जमाफी के नाम पर बोलने का कोई हक नहीं है। गरीबी हटाओ से लेकर कर्जमाफी तक का वादा करने वाली कांग्रेस की परंपरा है वादाखिलाफी, जो अब धीरे-धीरे कांग्रेस की संस्कृति बन गई है।