नीमच : जब खुली ढोल की पोल, रह गया हर कोई हैरान

नीमच, कमलेश सारडा। राजस्थान के चित्तोडगढ थाना पुलिस ने तस्करी के नए तरीके का भंडाफोड किया है। मध्यप्रदेश के रतलाम जिले के दो तस्कर ढोल के अंदर डोडाचूरा भरकर जोधपुर ले जा रहे थे। पुलिस ने रोककर ढोल बजाया तो पोल खुल गई।

यह भी पढ़ें…. मौनी रॉय का पहला करवा चौथ का व्रत,फ्लॉन्ट की ब्यूटीफुल मेहंदी

पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यंत ने बताया कि सदर थाना चित्तौड़गढ़ प्रभारी गोवर्धन सिंह उप निरीक्षक के नेतृत्व में थाने के हेड कॉन्स्टेबल भूपेंद्र सिंह, कॉन्स्टेबल हेमवृत सिंह, भजनलाल, सुरेंद्र पाल, बबलू व मनोहर सिंह द्वारा हाईवे रोड धनेत पुलिया पर बैरिकेड लगाकर नाकाबंदी की जा रही थी। नाकाबंदी के दौरान रिठौला चौराहे की तरफ से एक मोटरसाइकिल आई, जिसका चालक व उसके पीछे बैठा व्यक्ति पुलिस जाब्ता को देखकर घबरा गए जिन्हें पुलिस जाब्ते ने पकड़ा। संदिग्ध होने पर मोटरसाइकिल पर रखे सामानों की तलाशी ली तो उनके पास मिले दो ढोल जो कि शॉल से बंधे हुए थे। ढोल बजाया तो अंदर कुछ होने का आभास हुआ। ढोल के दोनों तरफ लगे बोल्ट को खोलकर ढक्कन को ऊपर किया तो ढोल के अंदर कुचला हुआ अफीम डोडा चूरा भरा मिला, जिसका वजन 10 किलोग्राम पाया गया। उक्त अफीम डोडा चूरा व मामले में उपयोग की गई मोटरसाइकिल को जप्त कर आरोपी मध्य प्रदेश के पिपलिया जोधा थाना रिंगनोद जिला रतलाम निवासी मोहनलाल पुत्र रतनलाल दमामी व अंकित पुत्र रमेश चंद्र दमामी को गिरफ्तार किया गया है। थाना सदर चित्तौड़गढ़ पर एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर अग्रिम अनुसंधान किया जा रहा है।

नीमच : जब खुली ढोल की पोल, रह गया हर कोई हैरान