गर्भवती महिला ने रोड पर दिया बच्चे को जन्म, न आई जननी एक्सप्रेस न आशा कार्यकर्ताओं ने की मदद

एक प्रसव पीड़ा से तड़पती महिला (Pregnant woman) ने जननी एक्सप्रेस का इंतजार करते करते रोड पर ही बच्चे को जन्म दे दिया। इस बच्चे के जन्म से सरकार की पोल खुलती हुई नजर आ रही है।

Pregnant woman

खंडवा, डेस्क रिपोर्ट। वन मंत्री विजय शाह के क्षेत्र हरसूद तहसील के ग्राम रामजी पुरा ग्राम से हाल ही में एक खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि एक प्रसव पीड़ा से तड़पती महिला (Pregnant woman) ने जननी एक्सप्रेस का इंतजार करते करते रोड पर ही बच्चे को जन्म दे दिया। इस बच्चे के जन्म से सरकार की पोल खुलती हुई नजर आ रही है। दरअसल, जननी एक्सप्रेस शासन-प्रशासन ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए बड़े-बड़े वादे तो किए थे लेकिन उस पर अमल नहीं कर पाए। अभी हाल ही में एक महिला ने प्रसव पीड़ा से तड़प कर और जननी एक्सप्रेस का इंतजार करते करते रोड पर ही बच्चे को जन्म दे दिया।

Must Read : खंडवा पुलिस को बड़ी सफलता, अवैध शराब के साथ किया तस्कर को गिरफ्तार

इतना ही नहीं आशा कार्यकर्ता ने भी गांव के स्वास्थ्य केंद्र पर मदद नहीं की। वहीं हॉस्पिटल ले जाने से भी मना कर दिया। इसलिए गांव से बाइक पर महिला को ले जाते वक्त बीच रस्ते में ही बच्चे को जन्म देना पड़ा। जानकारी के मुताबिक, जब गर्भवती महिला को आशा कार्यकर्ता ने अस्पताल जाने इंकार किया तो उनका कहना था कि मेरे पास अभी समय नहीं है, मैं 4:00 बजे हॉस्पिटल चलूंगी। उसके बाद महिला को बाइक से स्वास्थ्य केंद्र हरसूद ले जाया जा रहा था तब ही अचानक दर्द तेज होने से रास्ते में ही गाड़ी को रोकना पड़ा।

ऐसे में रस्ते में ही बच्चे को महिला ने जन्म दिया। महिला के ससुर सालक राम धुर्वे निवासी रामजी पुरा ने बताया लगभग 1 घंटे से हम इसी प्रकार जननी एक्सप्रेस का इंतजार कर रहे हैं। 100 नंबर को भी फोन लगाया गया। लेकिन कोई गाड़ी उपलब्ध नहीं हो पाई। महिला की हालत बिगड़ती जा रही थी और हम लोगों का सब्र भी जवाब दे गया था। कोई भी आगे बढ़कर मदद नहीं करना चाह रहे थे। करीब 1 घंटा महिला को लेकर रोड पर ही बैठे रहे और महिला ने वहीं शिशु को जन्म दे दिया। सालकराम धुर्वे के साथ गांव के सुनील और कुछ महिलाएं भी साथ में थी जिन्होंने प्रसूति महिला को मदद कर उसे वेन में बिठाकर शासकीय अस्पताल पहुंचाया गया।