अपनी ही पार्टी के विधायक पर भड़के पूर्व गृह मंत्री,जनजागरण अभियान चलाने का एलान 

कोठारी ने बताया कि 2013 में शासन द्वारा 17 अवैध कॉलोनियों को वैध घोषित किया गया था। जिसके विकास कार्य के लिए 4 करोड़ रुपये प्राप्त हुए थे। उसके बाद से कोई भी राशि नगर निगम को प्राप्त नहीं हुई।

रतलाम,सुशील खरे। पूर्व गृह मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता हिम्मत कोठारी (Himmat Kothari) ने  रतलाम (Ratlam)शहर के अपनी ही पार्टी के विधायक चेतन्य काश्यप (Chetanya Kashyap) को लेकर बड़ा बयान जारी  किया है उन्होंने विकास के दावे पर विधायक को घेरते हुए कहा कि विधायक ने  झूठी घोषणा कर लोगों को दिग्भ्रमित किया। अपने बेबाक लहजे और टिप्पणी के लिए पहचाने जाने वाले वरिष्ठ भाजपा नेता ने रतलाम शहर की खस्ताहाल सड़कों (Decaying roads) एवं अवैध कॉलोनियों (Illegal colonies)को आधार बनाते हुए सीधे तौर पर रतलाम शहर विधायक चेतन्य काश्यप को घेरने का प्रयास किया है। जनता की समस्याओं पर ध्यान नहीं दिए जाने पर उन्होंने जल्द ही जनजागरण अभियान चलाने का एलान भी किया है।

पूर्व गृह मंत्री हिम्मत कोठारी ने एक बयान जारी कर कहा है कि ‘4 साल बनाम 40 साल’ नारा देने वाले बताएं और अवैध कॉलोनियों को वैध करने के मामले (Case of legalizing illegal colony) में रोल मॉडल बनाने वाले बताएं  कि जिन 50 कॉलोनियों को वैध घोषित किया गया था उनमें कितने विकास कार्य हुए हैं? कोठारी का आरोप है कि झूठी घोषणा (False declaration) कर लोगों को दिग्भ्रमित करने के लिए भूमि पूजन किए गए थे। जनता की समस्याओं पर ध्यान नहीं दिए जाने पर उन्होंने जल्द ही जनजागरण अभियान चलाने का ऐलान भी किया है।

पूर्व गृह मंत्री कोठारी का कहना है कि रतलाम नगर विधायक चेतन्य काश्यप द्वारा घोषणा की गई थी कि 33 कॉलोनियों को और अवैध से वैध कर दिया गया है। उन कॉलोनियों में विकास कार्य कराने के लिए 19 करोड़ रुपये स्वीकृत किये गये। इस हेतु नगर निगम महापौर एवं कमिश्नर पर दबाव डालकर 20 करोड़ के टेंडर भी कॉल (निविदा आमंत्रण) कर लिए गए। 33 कॉलोनियों में जाकर विकास कार्य किए जाने का प्रचार-प्रसार कर भूमि-पूजन भी कर दिया गया परंतु नगर निगम को घोषणा के अनुसार 19 करोड़ की राशि शासन से स्वीकृत ही नहीं हुई और ना ही इस सबंध में कोई पत्र ही निगम को प्राप्त हुआ। आज भी इन अवैघ कॉलोनियों के लोग विकास कार्यों का इंतजार कर रहे हैं। कोठारी के अनुसार शहर में सीवरेज लाइन जहां-जहां डाली गई वहां की सड़कों पर ठेकेदार द्वारा पेचवर्क भी ठीक से नहीं किया गया। जहां किया जाता है वह भी कुछ दिनों बाद उखड़ जाता है। इस कारण भी सड़कें ज्यादा खराब हो गई हैं।

वरिष्ठ भाजपा नेता कोठारी ने कहा है कि जो कॉलोनियां वर्षों पूर्व नगर निगम द्वारा अधिग्रहण कर ली गई थीं उनमें भी पिछले 15 वर्षों से किसी भी प्रकार का विकास कार्य नहीं किया गया। वहां न तो रोड बनाई गई और न ही नालियों की मरम्मत की गई जबकि नगर निगम द्वारा नगर के नागरिकों से कर बराबर लिया जा रहा है। बावजूद उनमें विकास कार्य नहीं हो पाए। इस कारण रतलाम नगर की जनता में भारी आक्रोश है। कोठारी ने कहा कि रतलाम शहर की सड़कों पर गड्ढे  हो गये हैं  सड़कें उखड़ गई हैं। वाहन चलाने में लोग परेशान हो रहे हैं। रोज दुर्घटनाएं बढ़ रही हैं। सड़कों की धूल से प्रदूषण बढ़ गया है जिससे सांस लेने की बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। निगम द्वारा काफी समय से कहा जा रहा है कि सड़कों का निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ होगा परंतु अभी तक नगर निगम के इसके लिए राशि नहीं उपलब्ध हो पायी और न ही निगम द्वारा इसके लिए कोई प्रक्रिया ही की  जा रही है। कोठारी ने शहर की अवैध कॉलोनियों की सड़कों की जर्जर दशा पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि अवैध कॉलोनियों की सड़कों की हालत तो बहुत ज्यादा खराब है। कॉलोनियों  के रहवासी बड़े-बड़े गडढों से परेशान है। कोठारी ने बताया कि 2013 में शासन द्वारा 17 अवैध कॉलोनियों को वैध घोषित किया गया था। जिसके विकास कार्य के लिए 4 करोड़ रुपये प्राप्त हुए थे। उसके बाद से कोई भी राशि नगर निगम को प्राप्त नहीं हुई।कोठारी ने चेतावनी दी है कि शीघ्र ही रोड को बनाने का कार्य प्रारंभ नहीं करने पर पूर्व गृहमंत्री हिम्मत कोठारी ने रतलाम नगर में जन जागरण अभियान चलाया जाएगा।