शहर में घुस रही रेत से भरी बिना रायल्टी की गाडिय़ां, प्रशासन अनदेखी कर बैठा मौन

बुधनी- नसरुल्लागंज- शाहगंज रेहटी के दबंग राजनीतिक संरक्षण प्राप्त रेत कारोबारी डंपर- ट्रक के मालिक सीहोर में आकर बिना टैक्स चुकाए ओवरलोड रेत सस्ते दामों पर बेच रहे हैं।

सीहोर, अनुराग शर्मा। बुधनी- नसरुल्लागंज- शाहगंज रेहटी के दबंग राजनीतिक संरक्षण प्राप्त रेत कारोबारी डंपर- ट्रक के मालिक सीहोर में आकर बिना टैक्स चुकाए ओवरलोड रेत सस्ते दामों पर बेच रहे हैं। जिसके चलते शहर के ईमानदार रेत कारोबारी मोटर मालिकों को हर रोज हजारों रुपए का नुकसान हो रहा है, ग्राहक उनकी रेट खरीदने को तैयार नहीं है। हालात ऐसे हैं कि रेत कारोबारी मोटर मालिकों की वाहनों की किस्ते भी नहीं निकल पा रही है, कर्मचारियों के वेतन भत्ते भी नहीं निकल पा रहे हैं। बाहर के रेत कारोबारी स्थानीय रेत विक्रेताओं को हजारों रुपए का नुकसान पहुंचा रहे हैं। बावजूद इसके खनिज विभाग, परिवहन विभाग, पुलिस विभाग इन अवैध तरीकों से बाहर से आने वाले रेत से भरे डंपर और ट्रक पर सख्त कार्यवाही नहीं कर रहे हैं। जिसका खामियाजा स्थानीय रेत कारोबारियों को भुगतना पड़ रहा है।

रेत कारोबारी मोटर मालिक एसोसिएशन के द्वारा गुरुवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर डिप्टी कलेक्टर रवि वर्मा, जिला खनिज अधिकारी विजेंद्र परमार और जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने अवैधानिक रूप से शहर में रेत बेचने वाले और परिवहन करने वाले वाहन चालकों पर सख्त कड़ी कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है। जिला मुख्यालय के रेत मोटर मालिकों ने बताया कि शहर में अंडरलोड गाड़ी चलाना चाहते है। लेकिन बीते दिनों से लगातार शहर के अंदर बिना रायल्टी और ओवरलोड गाडिय़ां आ रही है, जिससे हमें रेत का व्यापार करने में परेशानी हो रही है। बिना रायल्टी और ओवरलोड गाडिय़ा शहर में अवैध रूप से आ रही है, जिसके कारण शहर की सडक़ें भी खराब हो रही है। सरकार को भी राजस्व का काफी नुकसान हो रहा है। सस्ते के चक्कर में नागरिकों के साथ उक्त बाहर के रेत कारोबारियों के द्वारा धोखाधड़ी की जा रही है। उक्त गाडिय़ों को सख्ती के साथ रोका जाए। इनकी रोकथाम के लिये प्रशासन को हमारी मदद करनी चाहिए।