सागर पुलिस के हत्थे चढ़ा बकरी चोर गिरोह, कार से आते थे बकरियां चोरी करने

शातिर चोर पहल रेकी करते थे फिर जहां उन्हे ग्रामीणों के घर में ज्यादा संख्या में बकरियाँ बंधी दिखती तो वह रात में कार लेकर बकरियाँ चुराने निकलते थे और चोरी करने के बाद बकरियों को कार में डालकर फरार हो जाते थे

Sagar Bakri Thief Gang : मध्यप्रदेश के सागर की सानौधा पुलिस ने एक ऐसा गिरोह पकड़ा है जो बकरियां चोरी करने में माहिर है, इस गिरोह के सदस्य आँख झपकते ही ग्रामीणों के घर में बंधी बकरियों को पार कर देते थे। लगातार मिल रही शिकायतों के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए इस गिरोह को पकड़ा।

ऐसे देते थे चोरी को अंजाम 

बताया जा रहा है कि शातिर चोर पहल रेकी करते थे फिर जहां उन्हे ग्रामीणों के घर में ज्यादा संख्या में बकरियाँ बंधी दिखती तो वह रात में कार लेकर बकरियाँ चुराने निकलते थे और चोरी करने के बाद बकरियों को कार में डालकर फरार हो जाते थे, ऐसे ही इन चोरों ने  21 जनवरी की रात एक  घर की दीवार में छेद किया और छेद के जरिए बकरियों को बाहर निकाला। उसके बाद तूफान गाड़ी क्रमांक एमपी 34 टी 0852 में लेकर भाग गए। फरियादी ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शिकायत पर प्रकरण दर्ज किया और जांच शुरू की। इसके पहले भी इन चोरों ने इसी तरह और भी कई जगह चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया था। लगातार मामले सामने आने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए  टीम गठित की और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए क्षेत्र की नाकाबंदी की, इसी बीच आबचंद के जंगल में एक संदिग्ध कार खड़ी होने की सूचना मिली। खबर मिलते ही पुलिस टीमों ने जंगल में घेराबंदी की।

कार्रवाई के बाद गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में  चोरी करना कबूल लिया। आरोपियों की निशानदेही पर चोरी गई 6 बकरियों को बरामद किया गया। पकड़े गए सभी आरोपी दमोह जिले के रहने वाले हैं। वह चोरी करने के लिए वाहन लेकर सागर आते थे। इनमें से कुछ चोर दीवार में छेद करने में माहिर थे, इसी छेद से वह बकरियों को बाहर निकाल लेते थे। वही ग्रामीण इलाकों में मौका मिलते ही जानवरों को गाड़ी में भरकर भाग जाते थे। बताया जा रहा है यह चोरी के इन जानवरों को कसाई को बेचते थे।