Chaitra Navratri 2023: नवरात्रि के पहले दो दिनों में पहुंचे सवा 2 लाख से ज्यादा श्रद्धालु, मंदिर में उमड़ी भीड़

Chaitra Navratri 2023 : सतना के मैहर में त्रिकूट पर्वत पर विराजित मां शरदा देवी के दर्शन के लिए देशभर से लोग पहुंच रहे हैं। बता दें कि नवरात्रि के पहले दो दिनों में यहां सवा 2 लाख से अधिक श्रद्धालु आ चुके हैं। इस दौरान मंदिर के आसपास भक्तों की भीड़ जमा होती है और धार्मिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जा रहे हैं। वहीं, सुरक्षा की दृष्टि से 1 हजार जवानों की तैनाती के साथ ही ड्रोन कैमरों से निगरानी का इंतजाम किया गया है। इसी कड़ी में मैहर में 9 दिवसीय मेले का भी आयोजन किया गया है।

Chaitra Navratri 2023: नवरात्रि के पहले दो दिनों में पहुंचे सवा 2 लाख से ज्यादा श्रद्धालु, मंदिर में उमड़ी भीड़

9 दिनों तक चलता है मेला

नवरात्रि पर्व में माता शक्ति की पूजा की जाती है जिसे बहुत उत्साह और श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। इस अवसर पर लोग विभिन्न प्रकार की पूजा-अर्चना करते हैं और माता शक्ति की कृपा के लिए भक्ति भाव से उनकी आराधना करते हैं। माता शारदा मंदिर के चैत्र नवरात्रि मेले में आने वाले लोगों को सुविधाजनक व्यवस्थाएं भी प्रदान की जाती हैं ताकि उन्हें किसी भी तरह की तकलीफ न हो।

मंदिर के पास पार्किंग और खाने की व्यवस्था भी होती है। यह मेला लगभग 9 दिनों तक चलता है जिसमें बहुत से लोग शामिल होते हैं। इस अवसर पर लोग अपनी आस्था और धार्मिक भावनाओं को जीवन में सुख और समृद्धि की प्राप्ति के लिए जोड़ते हैं।

प्रशासन की तैयारियां

बता दें कि सीसीटीवी कैमरे और ड्रोन कैमरे के उपयोग से मेला क्षेत्र में होने वाली भीड़-भाड़ और उल्लंघनों को रोका जा सकेगा। इसलिए प्रशासन यहां ड्रोन कैमरों से लगातार निगरानी रख रहा है। साथ ही, फायर ब्रिगेड और वन विभाग के कर्मचारी सुरक्षा के साथ-साथ मैहर मेला के प्रबंधन में भी मदद कर रहे हैं। इससे लोगों को मैहर मेला के दौरान अपनी सुरक्षा की चिंता कम होगी और वे अपनी पूजा विधि निष्ठा के साथ अधिक से अधिक अनुभव कर सकेंगे।

मैहर के माता शारदा मंदिर में बहुत से श्रद्धालु आकर्षित होते हैं। इस दौरान मंदिर के आसपास भक्तों की भीड़ जमा होती है और धार्मिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं। जिसके लिए 1 हजार जवानों की तैनाती के साथ ही ड्रोन कैमरों से निगरानी का इंतजाम किया गया है। बता दें कि मेला के लिए सुरक्षा के बहुत सारे इंतजाम किए गए हैं और दर्शनार्थियों के लिए भी सुविधाएं बढ़ाई गई हैं।

8 सेक्टर में बांटा

सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कर्मचारियों को 8 सेक्टर में बांटा गया है। गर्भ गृह में पुलिस कर्मियों की तैनाती भी सुरक्षा के लिहाज से बहुत महत्वपूर्ण है। इससे लोगों को मैहर मेला के दौरान अपनी सुरक्षा की चिंता कम होगी। इस तैनाती में शामिल होने वाले कर्मचारियों की संख्या भी बहुत अधिक है जो सुरक्षा के लिए बहुत आवश्यक हैं।

दो दिनों में लगा श्रद्धालुओं का तांता

इस दौरान मैहर में भारी भीड़ होती है और लोग लंबी कतारों में खड़े होकर शारदा माता की दर्शन के लिए इंतजार करते हैं। इसके अलावा, वर्ष भर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है। मैहर शारदा पीठ एक धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व वाला स्थान है और यहां देशभर से लोग आते हैं। नवरात्रि के दौरान यहां पर भक्तों की भीड़ और रौशनी देखने लायक होती है। इस अवसर पर मैहर की सड़कें भी श्रद्धालुओं से भर जाती हैं। इसलिए सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए मेंटेनेंस किया जा रहा है।

सतना- कटनी के बीच चल रही स्पेशल ट्रेन

बता दें कि मां शारदा को विद्या और ज्ञान की देवी के रूप में जाना जाता है। यहां पर लाखों लोग ध्यान एवं विद्या ग्रहण करने आते हैं। यह अपने सुंदर दृश्यों के लिए भी जाना जाता है। केवल इतना ही नहीं, इस पहाड़ पर जाने के लिए रोप-वे की सुविधा भी है जो ज्यादातर भक्तों को खूब पसंद आती है लेकिन अभी यहां आने वाले श्रद्धालुओं को थोड़ी परेशानी झेलनी पड़ सकती है।

इसके अलावा, रेलवे की भी सुविधा लोगों को दी जा रही है। रेलवे ने सतना- कटनी के बीच स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। यह स्पेशल ट्रेन 12 कोच की होगी और 22 मार्च से 5 अप्रैल तक चल रही है। साथ ही, मैहर में 2 अलग टिकट काउंटर भी खोले गए हैं।


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News