सतना जिला अस्पताल में इंजेक्शन लगने के बाद बच्चों की तबियत बिगड़ी

समय पर नहीं पहुंचे डॉक्टर, घबराए परिजन बच्चों को प्रायवेट अस्पताल ले गए

सतना, डेस्क रिपोर्ट। जिला अस्पताल में उस समय अफरा तफरी का माहौल हो गया जब बच्चा वार्ड में इंजेक्शन लगते हैं 7 बच्चे कांपने लगे। बच्चों की ये हालत देखकर परिजनों ने डॉक्टर को बुलाया लेकिन जब डॉक्टर नहीं आए तो वो अपने  बच्चों को लेकर प्राइवेट अस्पताल चले गए। इस बारे में हमने जब अस्पताल प्रबंधन से बात करने की कोशिश की तो कोई उपलब्ध नहीं हुआ।

पेंशनरों की पेंशन पर बड़ी अपडेट, हाई कोर्ट का अहम फैसला, जल्द भुगतान के आदेश, सचिव के वेतन पर रोक

सरदार वल्लभ भाई पटेल जिला चिकित्सालय में अचानक हड़कंप मच गया जब बच्चा वार्ड में भर्ती बीमार बच्चे इंजेक्शन लगने के बाद कांपने लगे। उनकी ये हालत देखकर परिजन घबरा गए नर्स और डॉक्टरों को बुलाया गया। लेकिन काफी देर तक डॉक्टर बच्चा वार्ड नहीं पहुंचे तो अनहोनी की आशंका के चलते घबराए परिजन बच्चों को बेड से उठाकर शहर के प्राइवेट नर्सिंग होम लेकर चले गए। जिला अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार इंजेक्शन लगने से 7 बच्चों की तबियत बिगड़ गई थी जिनमें से 5 बच्चों को परिजन निजी अस्पताल ले गए हैं, जबकि 2 बच्चे अभी भी जिला अस्पताल में भर्ती हैं। बच्चों को कौन सा इंजेक्शन लगाया गया था और किस बीमारी के लिए, ये अब तक पता नहीं चल पाया है। हमने जब इस सिलसिले में जिला अस्पताल प्रबंधन से संपर्क करने की कोशिश की तो वहां कोई भी उपलब्ध नहीं था बच्चों के परिजनों ने घटना के बारे में जानकारी दी।