चार दिवसीय दौरे पर सिंधिया, पुष्पहारों से नहीं कराएँगे स्वागत, ये है कारण

बताया जा रहा है कि यहां पर उनकी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, संगठन महामंत्री सुहास भगत के अलावा कई मंत्रियों से भी मुलाकात होगी।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) आज 9 जून से 12 जून तक मध्यप्रदेश के दौरे पर रहेंगे । इस दौरान वे भोपाल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) सहित कर बड़े नेताओं से मुलाकात करेंगे और ग्वालियर, भिंड एवं मुरैना के कार्यक्रमों में शामिल होंगे। लेकिन इस दौरे की खास बात ये है कि सिंधिया किसी से भी पुष्पहारों से स्वागत नहीं कराएँगे, इसके लिए उन्होंने सभी शुभ चिंतकों और समर्थकों से अपील की है।

मध्यप्रदेश के चार दिवसीय दौरे पर आज बुधवार को पहुँच रहे राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने अपील की है कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी एवं इसके गाइड लाइन को ध्यान में रखते हुए आगामी 9 जून से 12 जून तक भोपाल, ग्वालियर, भिंड एवं मुरैना के दौरे के दरमियान कोई भी कार्यकर्ता या शुभ चिंतक हार-फूल से स्वागत करने का प्रयास न करे, न ही कहीं भीड़ एकत्रित करे, शासन द्वारा निर्धारित कोविड की सभी गाइड लाइन का पूरी तरह पालन करने का प्रयास करना है।  भारतीय जनता पार्टी के संभागीय मीडिया प्रभारी ग्वालियर की तरफ से सिंधिया का ये सन्देश सोशल मीडिया पर जारी किया गया है।

ये भी पढ़ें – World Bank ने भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर की भविष्यवाणी, बताया क्या रहेगा ग्रोथ रेट का दर

निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) आज 9 जून को दिल्ली से इंडिगो की फ्लाइट द्वारा 1 बजे भोपाल एयरपोर्ट पहुंचेंगे यहाँ वे स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होंगे और रात्रि विश्राम भी भोपाल में ही करेंगे।  बताया जा रहा है कि यहां पर उनकी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, संगठन महामंत्री सुहास भगत के अलावा कई मंत्रियों से भी मुलाकात होगी।

ये भी पढ़ें – Electricity Bill: बिजली उपभोक्ताओं की बढ़ी परेशानी, बिल पर ऊर्जा मंत्री का बड़ा बयान

इस मुलाकात के कई मायने लगाए जा रहे हैं क्योंकि  सिंधिया के कई समर्थक उनके कांग्रेस में आने के बाद से ही ताजपोशी का इंतजार कर रहे हैं। इनमें कुछ ऐसे हैं जो विधानसभा का उपचुनाव हार गए थे और अब इन्हें निगम मंडल या संगठन में एडजस्ट किया जा सकता है। इनमें सबसे पहला नाम इमरती देवी का है। इसके अलावा गिर्राज दंडोतिया को भी निगम या मंडल में जगह दी जा सकती है। एन्दल सिंह कंसाना और मुन्नालाल गोयल भी चुनाव हारने के बाद इस इंतजार में हैं कि उन्हें किसी न किसी पद पर स्थान मिल पाए। सिंधिया के कट्टर समर्थक माने जाने वाले पंकज चतुर्वेदी भी अपनी काबिलियत और योग्यता के आधार पर अपनी मजबूत दावेदारी रखते हैं। इसके साथ ही भोपाल में सिंधिया समर्थक युवा नेता कृष्णा घाटगे भी प्रमुख दावेदारों में से हैं।

ये भी पढ़ें – पूर्व मंत्री और BJP के दिग्गज का ब्लैक फंगस से निधन, सीएम ने जताया शोक

भोपाल के कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद सिंधिया 10 जून को सुबह 9:30 बजे भोपाल से हेलीकॉप्टर से 10:30 ग्वालियर पहुंचेंगे और ग्वालियर एयरपोर्ट से ही सड़क मार्ग से भिंड के मेहगांव के लिए रवाना हो जायेंगे।  भिंड के कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद  शाम 4:15 बजे ग्वालियर वापस आएंगे और अपने निवास जयविलास पैलेज में रात्रि  विश्राम करेंगे।

11 जून की सुबह 10:30 बजे इंदौर कैंसर फाउंडेशन के वर्चुअल कार्यक्रम में शामिल होंगे। 11:15 बजे से 12 बजे तक  ग्वालियर मोती महल में एम्बुलेंस डोनेशन कार्यक्रम में शामिल होंगे। और फिर दिन में 1 बजे मुरैना निकल जायेंगे।  मुरैना के कार्यक्रमों में शामिल होने के बाद शाम 5:40 बजे ग्वालियर वापस आएंगे और रात्रि विश्राम जयविलास पैलेस में करेंगे।  सिंधिया 12 जून को सुबह दिल्ली वापस चले जायेंगे।

चार दिवसीय दौरे पर सिंधिया, पुष्पहारों से नहीं कराएँगे स्वागत, ये है कारण