Electricity Bill: बिजली उपभोक्ताओं की बढ़ी परेशानी, बिल पर ऊर्जा मंत्री का बड़ा बयान

कई बार रीडिंग लेते समय कर्मचारियों से गलती हो जाती है। ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

Electricity

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में बिजली उपभोक्ताओं (electricity consumers) की समस्याएं बढ़ती जा रही है। दरअसल उपभोक्ताओं की शिकायत है कि बिजली के बिलों (Electricity Bill) की राशि कई गुना अधिक आ रही है। इस मामले में बिजली कंपनियों के अधिकारियों को शिकायत की जा रही है लेकिन उनकी तरफ से ध्यान नहीं दिया जा रहा है। हालांकि बिजली कंपनी के अधिकारी इन कमियों में तकनीकी खामियों को वजह बता रहे हैं। इस लापरवाही का सीधा सीधा असर बिजली उपभोक्ताओं पर पड़ रहा है।

दरअसल कोरोना की दूसरी लहर में लॉकडाउन (lockdown) की वजह से मीटर रीडिंग (meter reading) का कार्य बंद रहा। जिसके कारण 2 से 3 महीने की रीडिंग का बिल एकमुश्त उपभोक्ताओं को सौंपा जा रहा है। उपभोक्ताओं की शिकायत है कि यूनिट का टैरिफ (unit tariff) बदल गया है और कम टैरिफ में अब बिजली कंपनियां अधिक राशि ले रही है।

बिजली उपभोक्ताओं की शिकायत है कि 200 यूनिट बिजली का उपयोग किए जाने के बाद तीसरे महीने केवल 600 यूनिट के टैरिफ में जारी हो रहे हैं लेकिन टैरिफ बढ़ने से उपभोक्ताओं पर बिजली बिल का अतिरिक्त भार देखा जा रहा है। इस मामले में उपभोक्ता द्वारा लगातार अधिकारियों से संपर्क किए जा रहे हैं लेकिन अधिकारियों की तरफ से कोई संतुष्ट उत्तर प्राप्त नहीं हो रहा है।

Read More: पूर्व मंत्री और BJP के दिग्गज का ब्लैक फंगस से निधन, सीएम ने जताया शोक

मध्यप्रदेश के जबलपुर शहर से अकेले 2 महीने में 1200 शिकायतें सामने आई है। मामले में पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक का कहना है बिजली बिल जारी करने में हुई लापरवाही पर कई अधिकारियों को नोटिस जारी किया गया है। जल्द ही इस मामले में उपभोक्ताओं को राहत दी जाएगी।

इस मामले में मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर का कहना है कि अतिरिक्त राशि के बिल की शिकायतें आ रही है। कई बार रीडिंग लेते समय कर्मचारियों से गलती हो जाती है। ऐसे अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। वही बिजली बिल में सुधार करवाए जा रहे हैं। इसके साथ ऊर्जा मंत्री ने कहा है कि मैदानी अधिकारियों से कर्मचारियों तक को रीडिंग पर निगरानी रखने के लिए कहा गया है। कर्मचारी सावधानी से रीडिंग ले रहे हैं ।उपभोक्ताओं से रीडिंग के वक्त ध्यान देने की अपील की गई है।

बता दें कि पिछले दिनों भोपाल के शायर मंजर भोपाली को 36 लाख रुपए का बिल जनरेट किया गया था। हालांकि बाद में अधिकारियों ने इस गलती को देखो और फिर से रीडिंग कराई गई तो बिजली का बिल 9000 किया गया था। ऐसी स्थिति में लगातार ग्राहकों को हो रही समस्या के बीच ऊर्जा मंत्री ने जल्द ही इस समस्या के निराकरण की बात कही है।