आवास योजना में गड़बड़ी के बाद CEO ने रोजगार सहायक की संविदा सेवा की समाप्त

सेवा में हुई अनियमितता रोजगार सहायक राकेश धुर्वे को कारण बताओ नोटिस (notice) भी जारी किया गया था।

PM

सीहोर, डेस्क रिपोर्ट। ग्राम पंचायतों (Gram panchayats) में लगातार सेवा में अनियमितता का दौर जारी है। लगातार रोजगार सहायक (Employment assistant) और पंचायत सचिवों (Panchayat Secretaries) पर कार्रवाई की जा रही है। इसी बीच एक मामला मध्यप्रदेश के सीहोर (sehore) जिले से सामने आया है। जहां शासन के नियमों की अनदेखी करने पर CEO ने रोजगार सहायक की संविदा सेवा नियुक्ति (Contract service appointment) को समाप्त कर दिया गया है।

दरअसल मामला सीहोर जिले के ग्राम पंचायत अमीरगंज का है। जहां रोजगार सहायक राकेश धुर्वे (rakesh dhurve) ने शासन के नियमों की अनदेखी करते हुए प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan Mantri Aawas Yojana) में हितग्राही के बदले किसी और को योजना का लाभ दे दिया। सेवा में हुई अनियमितता रोजगार सहायक राकेश धुर्वे को कारण बताओ नोटिस (notice) भी जारी किया गया था।

Read More: 200 करोड़ फर्जी लोन मामले में प्रदेश के 3 ठिकानों पर CBI की रेड, कहा- जल्द होंगे बड़े खुलासे

बता दे कि प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ पात्र हितग्राही को न देकर अन्य व्यक्ति को दिए जाने के बाद जनपद पंचायत कार्यालय नसरुल्लागंज ने रोजगार सहायक धुर्वे को कारण बताओ नोटिस जारी किया लेकिन धुर्वे की तरफ से कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला।

जिसके बाद जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी (Chief Executive Officer) ने तत्काल प्रभाव से ग्राम रोजगार सहायक की संविदा सेवा नियुक्ति समाप्त कर दी। इतना ही नहीं संबंधित मामले में रोजगार सहायक के विरुद्ध जांच कमेटी बैठाई गई है। वहीं मामले के खुलासे के बाद उन पर बड़ी कार्रवाई की जा सकती है।